भोपाल। एक बिल्डर ने ज्वाइंट वेंचर के नाम पर परिवार को चपत लगा दी। आरोपी ने उनके पुश्तैनी मकान पर जेबी किया। खुदके हिस्से में बहतरीन निर्माण किया जबकि फरियादी के हिस्से में घटिया निर्माण कर थमा दिया। मामले में पुलिस ने धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज कर लिया है। आरोपी की तलाश की जा रही है। तलैया पुलिस का कहना है कि आरोपी के खिलाफ कोतवाली थाना सहित अन्य थानों में सट्टा खाईबाजी के मुकदमे में पूर्व में दर्ज हैं।

पुलिस के अनुसार सलीम खान पिता ईशाक खान (50) निवासी मकान नंबर 35 टोल वाली मस्जिद के पास बुधवारा कारोबारी हैं। उनका पुश्तैनी मकान भी वहीं है, जिसमें उनके भाई नूर खान, याकूब खान,फारूख खान, अजीज खान और जहीर खान का भी हिस्सा था। पांचो भाई की सहमती के बाद में आरोपी अतीक उर्फ बिल्डर ने उनके मकान पर निर्माण कार्य का सौदा ज्वाइंट वैंचर में तय किया था। फ्लैट बनने के बाद आधे अतीक के और आधे सलीम व भाई को देना तय हो गया था। अतीक ने निर्माण कर अपार्टमेंट तैयार किया। अब फरियादिया का आरोप है कि जिस हिस्से को अतीक ने रखा है, उसमें बने सभी फ्लैट बहतर बने हैं। उनका साइज भी अधिक बड़ा है तथा रास्ता और लिफ्ट भी बहतर है। वहीं जो फ्लैट सलीम व भाईयों के सौंपे गए हैं, उसमें घटिया क्वालिटी का निर्माण हुआ है। फ्लैट के साइज भी छोटे हैं और रास्ता भी सही नहीं दिया गया है। इतना ही नहीं उसमें लिफ्ट की व्यवस्था भी नहीं की गई है। जबकि करार में सभी चीजें बराबर होने की बात तय थी। इन तमाम बातों को लेकर फरियादी ने थाने में आवेदन दिया था। आवेदन के आधार पर पुलिस ने धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं में प्रकरण दर्ज कर लिया है।

– सीएसपी पर हमला कर चुका है आरोपी

उल्लेखनीय है कि कई वर्षों पहले कोतवाली इलाके के तत्कालीन सीएसपी पर अतीक हमला कर चुका है। सीएसपी अपनी टीम के साथ में अतीक के घर छापे मार कार्रवाई करने गई थी। जहां अतीक व साथियों ने पुलिस टीम के साथ घर में ही मारपीट कर दी थी। बाद में पुलिस ने उसकी जमकर धुनाई की थी। मामले ने जमकर तूल पकड़ा था। हालांकि अतीक के राजनेतिक आकाओं ने केस में हस्तक्षेप कर उसे बचा लिया था।