भोपाल| मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में बंगला पॉलिटिक्स (Bungalow Politics) ख़त्म होने का नाम नहीं ले रही है| कांग्रेस नेता और पूर्व वित्त मंत्री तरुण भनोट (Tarun Bhanot) के बंगले को एक बार फिर से सील कर दिया गया है| बुधवार को संपदा विभाग और PWD विभाग के अधिकारी पूर्व वित्तमंत्री के बंगले पर पहुंचे और बंगले को सील कर दिया| जिसके बाद फिर से मध्यप्रदेश में बंगले को लेकर सियासत शुरु हो गई है। इससे पहले भी पूर्व मंत्री भनोट का बँगला सील कर दिया गया था|

दरअसल, बुधवार को राजधानी के चार इमली क्षेत्र में स्थित तरुण भनोट के बंगले को संपदा और पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों की मौजूदगी में सील कर दिया गया। पहले भी तरुण भनोट के बंगले को सील कर दिया गया था लेकिन बाद में उसे खोल दिया गया था। मई के महीने में तरुण भनोट के बंगले को सील कर दिया गया था लेकिन तब तरुण भनोट ने खुद सीएम शिवराज से 74 बंगले स्थित B-22 बंगला उन्हें आवंटित करने का आग्रह किया था| तरुण भनोट के इस आग्रह के बाद उनके बंगले को खोल दिया गया था।

प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के साथ ही बंगला पॉलिटिक्स शुरू हुई| जब वर्तमान सरकार ने पूर्व सरकार के मंत्रियों और विधायकों को बंगले खाली करने के नोटिस जारी किए| इसको लेकर सियासत जमकर हुई| वहीं तरुण भनोट को भी नोटिस दिया गया था लेकिन जब उन्होंने बंगला खाली नहीं किया तो बेदखली का नोटिस जारी हुआ था और बाद में बंगले को सील कर दिया गया था।