उपचुनाव से पहले ग्वालियर चंबल में सेंधमारी, BSP के 2 दर्जन नेता कांग्रेस में शामिल

BSP-candidate-nisha-tripathi-withdraw-nomination-from-Rajgarh-seat

भोपाल। मध्यप्रदेश उपचुनाव से पहले बसपा को बड़ा झटका लगा है।शिवपुरी जिले के करेरा विधानसभा सीट से चुनाव लड़ चुके प्रागी लाल जाटव ने आज रविवार को पीसीसी चीफ और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ(kamalnath) की मौजूदगी में कांग्रेस की सदस्यता ले ली है।वही ग्वालियर चम्बल संभाग (Gwalior Chambal Division)के बसपा (बहुजन समाज पार्टी) के दो दर्जन से ज्यादा बड़े नेता ने भी कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की। उपचुनाव से पहले बसपा के लिए यह बड़ा झटका माना जा रहा है क्योकि बसपा ने भी उपचुनाव में 24 सीटों पर प्रत्याशी उतारने का फैसला किया है।वही करेरा विधानसभा चुनाव (vidhansabha2018) में बसपा(BSP) तीसरे नंबर पर रही थी,

पूर्व सीएम कमलनाथ से मिलने के बाद सभी बसपा नेताओं ने कांग्रेस की सदस्यता ली।इस दौरान पूर्व विधानसभा अध्यक्ष नर्मदाप्रसाद प्रजापति, पूर्व मंत्री पीसी शर्मा, सज्जन वर्मा, कार्यकारी अध्यक्ष रामनिवास रावत सहित कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं पीसीसी में मौजूद रहे । माना जा रहा है कि शिवपुरी के करेरा में जाटव वोट बैंक(vote bank) वाले नेताओं में शामिल हैं। प्रागी लाल जाटव को पार्टी में शामिल कर कांग्रेस ने जाटव वोट बैंक में सेंध लगाई है। जाटव की कांग्रेस में एंट्री को उपचुनाव से जोड़कर इसलिए देखा जा रहा है क्यों ग्वालियर-चंबल इलाके की अधिकांश सीटों पर अनुसूचित जाति के मतदाता निर्णायक भूमिका अदा करते रहे हैं।करेरा विधानसभा सीट पर जाटव वोट बैंक का खासा प्रभाव है। प्रागी लाल जाटव को पार्टी में शामिल कर कांग्रेस ने जाटव वोट बैंक को लुभाने की कोशिश की है।

बता दे कि प्रागी लाल जाटव करैरा विधानसभा से चुनाव लड़े थे और चुनाव में उनकी मौजूदगी के चलते मुकाबला त्रिकोणीय हो गया था। हालाँकि वे तीसरे नंबर रहे थे। शिवपुरी में 5 विधानसभा सीटें आती हैं, उन्हीं में से करैरा भी एक है। करैरा विधानसभा सीट 2008 से अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है।शिवपुरी जिले की पांच विधानसभा सीटों में बसपा का सर्वाधिक जनाधार करैरा विधानसभा सीट पर है। इस सीट पर 2008 के चुनाव में बीजेपी के रमेश प्रसाद खटीक 35846 वोटों के साथ पहले स्थान पर थे, तो वहीं बसपा के प्रगतिलाल जाटव 23030 वोटों के साथ दूसरे स्थान पर थे। कांग्रेस प्रत्याशी बाबू रामनरेश ने चुनाव में तीसरा स्थान हासिल किया था।

इन्होंने ली सदस्यता

बसपा से डबरा की तीन बार नगर पालिका अध्यक्ष, महासचिव, जिला अध्यक्ष रहीं सत्यप्रकाशी परसेणीयां , महामंत्री भाजपा केशव बघेल, फेरणसिंघ कुशवाह, रामेश्वर परिहार पार्षद बसपा, सुरेश पाल, नरेश प्रजापति, रामावतार सिंह, बाबूलाल गौर, अशोक कुशवाह, बुदनी से अमन सूर्यवंशी, रामेश्वर परिहार, दिनेश खटीक ।