देह व्यापार की आड़ में अड़ीबाजी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, युवतियां बनाती थी शिकार

Busted-gang-of-fraud-on-prostitutes-in-bhopal

भोपाल। क्राइम ब्रांच ने देह व्यापार की आड़ में लोगों के साथ अड़ीबाजी और ब्लैकमेलिंग करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने दो युवतियों और एक युवक को गिरफ्तार किया गया है, जबकि गिरोह में शामिल ��क वर्दी वाले पुलिसकर्मी की तलाश की जा रही है। कार्रवाई को एक बुजुर्ग की शिकायत पर अंजाम दिया गया है।

एएसपी क्राइम ब्रांच निश्चल झारिया के मुताबिक 69 वर्षीय सीनियर सिटीजन रिटायर्ड इंजीनियर हैं। करीब एक महीने पहले उन्होंने वरिष्ठ अफसरों को एक शिकायत की थी। शिकायत में उन्होंने बताया कि एक दिन उनके मोबाइल पर अज्ञात महिला का फोन आया था। बातचीत के दौरान उसने उनके घर का पता और उनके बारे में पूरी जानकारी हासिल कर ली। इसके बाद मिलने के लिए एमपी नगर स्थित एक शापिंग माल के पास बुलाया। वे महिला से मिलने पहुंचे तो उसने लुभावनी बातें की और तलैया इलाके में स्थित एक खाली मकान पर चलने के लिए बोला। महिला के भरोसे में आकर वे उसके साथ चले गए। महिला उन्हें एक कमरे में लेकर पहुंची, जहां पहले से एक अन्य युवती मौजूद थी। बुजुर्ग का कहना था कि वे लोग बातें कर रहे थे, तभी दो अन्य लोग कमरे में पहुंचे। 

– वर्दी पहनकर आया अड़ीबाज

आरोपियों में से एक सादे कपड़ों में था, जबकि दूसरा पुलिस की वर्दी पहने था। उन दोनों ने कहा कि आप लोग यहां पर चकलाघर चलाते हैं, इसलिए पुलिस केस बनेगा। इसके साथ ही उन्होंने बुजुर्ग के कपड़े उतरवाए और युवतियों के साथ अश्लील फोटों खींच लिये। इसके बाद दोनों युवक बोले कि पुलिस केस से बचना है तो पांच लाख रुपये देने होंगे। बुजुर्ग ने जब इतने रुपये नहीं होने की बात कही तो उन्होंने जेब में रखे छह हजार रुपये ले लिए और बाकी की रकम बाद में देने का कहकर उन्हें छोड़ दिया। इस मामले की जांच क्राइम ब्रांच को सौंपी गई थी।

– दोनों युवतियां और युवक गिरफ्तार

एएसपी श्री झारिया ने बताया कि इस गिरोह को पकडऩे के लिए एक विशेष जांच टीम बनाई गई थी। फरियादी को बंद गाड़ी में बिठाकर हर संभावित ठिकानों पर आरोपियों की तलाश शुरू की गई। इसी दौरान आरटीओ कार्यालय के पास एक संदेही युवक को फरियादी ने पहचान लिया। पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने घटना की पुष्टि करते हुए अपना जुर्म स्वीकार कर लिया। उसकी निशानदेही पर दोनों युवतियों को भी दबोच लिया गया। 

– यह आरोपी हुए गिरफ्तार

पकड़े गए आरोपी का नाम भूपेश राणा (44) निवासी अरेरा कालोनी बताया गया है, जबकि 24 और 28 साल की दोनों सगी बहनें पुराने शहर की रहने वाली हैं। पुलिस पूछताछ कर यह पता लगाने का प्रयास कर रही है कि इस गिरोह ने अब तक कितने लोगों के साथ इस प्रकार की ब्लैकमेलिंग की है। हालांकि एएसपी ने बताया कि कुछ लोगों ने फोन पर इस प्रकार की शिकायत की थी, जिसकी तस्दीक की जा रही है। गिरोह में शामिल वर्दी वाले पुलिसकर्मी की शिनाख्त परेड कराने के बाद उसे भी गिर तार कर लिया जाएगा।