उपचुनाव : अटकलों पर विराम, अनूपपुर से विश्वनाथ सिंह कुंजाम ही होंगे कांग्रेस प्रत्याशी

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। रमेश सिंह (Ramesh Singh) के संयुक्त कलेक्टर पद से इस्तीफा के बाद सियासी गलियारों में चर्चा जोरों पर थी कि अनूपपूर से घोषित प्रत्याशी को कांग्रेस बदल सकती है।उपचुनाव में शिवराज सरकार में खाद्य नागरिक, आपूर्ति व उपभोक्ता संरक्षण मंत्री बिसाहूलाल सिंह (Bisahulal Singh) को रमेश सिंह टक्कर दे सकते है, लेकिन इन सब अटकलों पर कांग्रेस ने विराम लगा दिया है। कांग्रेस ने साफ मना कर दिया है कि वो अपना प्रत्याशी नही बदलेगी, मीडिया में जो खबरें चल रही है वो फर्जी है।वैसे कांग्रेस ने यहां से विश्वनाथ सिंह कुंजाम को अपना प्रत्याशी बनाया है।

एमपी कांग्रेस ने ट्वीट कर लिखा है कि सोशल मीडिया एवं कुछ मीडिया चैनलों पर अनूपपुर के प्रत्याशी बदलने की भ्रामक एवं असत्य खबरें चलाई जा रही है।कांग्रेस ने अनूपपुर के लिये श्री विश्वनाथ सिंह कुंजाम को प्रत्याशी घोषित कर दिया है। अनूपपुर के प्रत्याशी पर न तो कोई पुनर्विचार हो रहा है, और न ही कोई पुनर्विचार होगा।

दरअसल, शहडोल में संयुक्त कलेक्टर व राज्य प्रशासनिक सेवा (2006 बैच) के अधिकारी रमेश सिंह ने पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ कमलनाथ (Kamalnath) से मुलाकात के बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया।हैरानी की बात तो ये है कि तीन दिन पहले सिंह का तबादला शहडोल से नीमच किया गया था, लेकिन ज्वाइनिंग के पहले ही उन्होंने मंत्रालय पहुंचकर सामान्य प्रशासन विभाग (कार्मिक) की प्रमुख सचिव दीप्ति गौड़ मुकर्जी को वीआरएस आवेदन सौंप दिया। इसके बाद उन्होंने कहा कि वे चुनाव जरूर लड़ेंगे, उनकी नौकरी को 16 साल बचे हुए हैं। उनके इस्तीफे के बाद से ही मीडिया में अटकलें तेज हो गई कि कांग्रेस अनूपपूर से अपना प्रत्याशी बदल सकती है, चुंकी रमेश सिंह अनूपपुर जिले के ग्राम खाड़ा से आते है और पहले भी वे चुनाव में दावेदारी ठोक चुके है, लेकिन कांग्रेस ने सभी अटकलों पर विराम लगा दिया है और विश्वनाथ सिंह को ही अपना प्रत्याशी बनाने का फैसला लिया है।राज्य प्रशासनिक सेवा में रहते हुए रमेश सिंह सतना, उमरिया, डिंडोरी समेत कई जिलों में सेवाएं दे चुके हैं|

बता दे कि अनूपपूर सीट से कांग्रेस ने जहां विश्वनाथ सिंह कुंजाम को अपना प्रत्याशी बनाया है, वही खाद्य नागरिक, आपूर्ति व उपभोक्ता संरक्षण मंत्री बिसाहूलाल सिंह भाजपा के संभावित उम्मीदवार होंगे। कांग्रेस के टिकट पर वे पिछला चुनाव जीते थे, लेकिन इस्तीफ़ा देकर वे भाजपा में चले गए और उन्हें मंत्री बनाया गया, अब उनका मुकाबला कांग्रेस के विश्वनाथ सिंह से होगा।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here