कैबिनेट मंत्री ने कमलनाथ को ”श्रीकृष्ण” और शिवराज को बताया ”शकुनि मामा”

भोपाल।
राजगढ़ कलेक्टर (डीएम) निधि निवेदिता और डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा को लेकर बीजेपी बीजेपी-कांग्रेस आमने-सामने आ गईं हैं।दोनों राजनैतिक दलों के बीच जमकर बयानबाजी हो रही है। एक तरफ जहां बीजेपी सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन और एफआईआर दर्ज कराने की मांग कर रही है। वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस दोनों महिला अधिकारियों का खुलकर समर्थन कर रही है।यहां तक कि महिला कांग्रेस ने उन्हें इस बहादुरी के लिए सम्मानित करने का भी फैसला किया है।इसी बीच पूर्व बद्रीलाल यादव के महिला अधिकारियों को लेकर दिए गए विवादित बयान पर जनसम्पर्क मंत्री पीसी शर्मा ने बड़ा बयान दिया है।

शर्मा का कहना है कि महिला अधिकारियों के लिए जो शब्दों का उपयोग किया गया वह दुर्भाग्यपूर्ण है।
शर्मा ने शिवराज को शकुनि मामा बताते हुए कहा है कि शकुनि मामा की मौजूदगी में दुर्योधन के इशारों पर दशानन ने शब्दों के माध्यम से चीरहरण किया है। हमारा देश दुर्गा, सरस्वती का पूजन करता है, यहां महिलाओं को प्रधान माना जाता है।वही शर्मा ने कमलनाथ को भगवान कृष्ण बताते हुए कहा कि महिलाओं में जेनएयू का वायरस नही रानी लक्ष्मीबाई और इंदिरा गांधी का वायरस है। महिलाओं की रक्षा के लिए मुख्यमंत्री कृष्ण के रूप पीछे खड़े रहेंगे।

बता दे कि ब्यावरा में प्रशासनिक अधिकारियों के रवैए के खिलाफ भाजपा के प्रदर्शन में बुधवार को पूर्व मंत्री बद्रीलाल यादव ने मंच से राजगढ़ की महिला कलेक्टर पर एक आपत्तिजनक टिप्पणी कर दी थी।कुछ ही समय में उनकी यह टिप्पणी सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। इसके बाद लोग बद्रीलाल यादव की आलोचना करते हुए महिला कलेक्टर निधि निवेदिता के समर्थन में आ गए । वही महिला कांग्रेस ने भी इसकी आलोचना करते हुए यादव का पुतला फूंका था।