कैबिनेट मंत्री बोले- प्रशासन में अब भी है साध्वी जैसी मानसिकता के लोग

भोपाल।

एमपी के शिक्षा विभाग द्वारा 10वीं के छात्रों के लिए तैयार की गई मॉड्यूल बुक गांधीजी को ‘कुबुद्धि’ बताने पर ह़ड़कंप मच गया है। इसी बीच कमलनाथ सरकार में जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा का बड़ा बयान सामने आया है। मंत्री ने ऐसा करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की बात कही है।वही भोपाल सांसद साध्वी प्रज्ञा और आरएसएस पर निशाना साधा है।

आज मीडिया से चर्चा करते हुए शर्मा ने कहा कि अभी भी प्रशासन में प्रज्ञा भारती जैसी मानसिकता के लोग है।आरएसएस की मानसिकता के लोग ऐसा करते हैं।इन पर कड़ी कार्रवाई होगी और दोषियों को बख्शा नही जाएगा।

बता दे कि मध्य प्रदेश के शिक्षा विभाग द्वारा 10वीं के छात्रों के लिए तैयार की गई मॉड्यूल बुक में बड़ी चूक सामने आई है। टेस्ट पेपर-3 के पेज नंबर 46 पर गांधीजी को ‘कुबुद्धि’ बताया गया है। पेपर में लिखा है कि कुबुद्धी अपने जीवन के शुरूवात में शराब पीने वाले एक कमजोर व्यक्ति थे. इस मॉड्यूल का इस्तेमाल पिछले कई महीनों से स्टूडेंट्स को पढ़ाने के लिए किया जा रहा है।जिसको लेकर अब सवाल खड़े हो रहे है।

वही मध्यप्रदेश में हर दूसरे व्यक्ति को रिश्वत देकर काम कराने की रिपोर्ट पर बोले यह सब पुरानी बातें हैं। हमारी 11 महीने की सरकार में ऐसा कुछ नहीं हो रहा है।ये बीजेपी की सरकार के आंकडे है।,2019  मे कोई भ्रष्टाचार नही हुआ । अगर ऐसा मामला आया तो सीधे कार्रवाई होगी। वही कहा कि जीएसटी की राशि पाने के लिए सरकार सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटायेगी।केंद्र सरकार राज्य सरकार के हितों का पैसा नहीं दे रही है।विस अध्यक्ष एनपी प्रजापति की राज्यपाल से हुई मुलाकात पर मंत्री पीसी शर्मा ने कहा वो पूर्व विधायक हो चुके हैं, अब नही होगी वापसी।