लोधी की सदस्यता बहाल करने पर कैबिनेट मंत्री का बड़ा बयान

भोपाल।

जबलपुर हाईकोर्ट से राहत मिलने के बाद अबतक बर्खास्त विधायक प्रहलाद लोधी को बहाल नही किया गया है। उनकी सदस्यता बहाली के लिए अब भाजपा राज्यपाल के यहां गुहार लगाएगी। एक-दो दिन में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के नेतृत्व में भाजपा विधायक राज्यपाल लालजी टंडन से मिलकर लोधी की सदस्यता बहाल करने की मांग करेंगे।इसके पहले कमलनाथ सरकार में जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा का बड़ा बयान सामने आया है।

शर्मा का कहना है कि हाईकोर्ट के फैसले में बीजेपी विधायक प्रह्लाद लोधी की सदस्यता का जिक्र नहीं है। कोर्ट ने उनकी सजा पर स्टे दिया है, सदस्यता पर नहीं। वही उन्होंने बीजेपी के राजभवन जाने और सदस्यता बहाल करने की मांग पर कहा  कि विधानसभा अध्यक्ष ने नियमानुसार कार्रवाई की है। कोर्ट के मामले है राज्यपाल का दखल जरूरी नहीं है।

दरअसल, लोधी को लेकर सोमवार को नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के निवास पर पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीतासरण शर्मा और पूर्व मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा के बीच चर्चा हुई। नेता प्रतिपक्ष का कहना था कि  हाईकोर्ट के 7 जनवरी तक स्टे ऑर्डर दिए जाने से प्रहलाद लोधी की सदस्यता समाप्त किए जाने के संबंध में विधानसभा ने जो आदेश जारी किए थे वे स्वत: ही समाप्त हो गए हैं। इसलिए विधानसभा को भी इस संबंध में तत्काल कार्यवाही करना चाहिए। नरोत्तम मिश्रा का कहना था कि जब लोधी की सदस्यता समाप्त नहीं हुई है तो बहाल करने का सवाल ही नहीं होता।वही डॉ. सीतासरण शर्मा का कहना था कि लोधी की सदस्यता बहाली के मामले में आखिर क्यों देरी हो रही है।

गोविंद सिंह का समर्थन, संपर्क में है बीजेपी विधायक

वही उन्होंने कैबिनेट मंत्री गोविंद सिंह के बीजेपी के 3 से 4 विधायक संपर्क में होने के दावे का समर्थन किया और कहा कि इस बात की ताकीद मैं भी करता हूं। बीजेपी विधायक हमारे संपर्क में है। वही नाम बताने के सवाल पर कहा – नाम क्यों बताए, जरूरत आने पर वो विधायक सामने आ जायेंगे।जब फ्लोर टेस्ट या फिर बीजेपी सरकार गिराने की बात करेगी तब उन विधायकों को सामने ले आएंगे।