एसडीओ पर दहेज प्रताड़ना का मामला दर्ज, पत्नी से 50 लाख और जेवरात मांगने के आरोप

भोपाल। फराज शेख| राजधानी की हबीबगंज पुलिस ने पीडब्ल्यूडी खंडवा में पदस्थ एसडीओ पर दहेज प्रताडऩा की एफआईआर दर्ज की है। उनके एसडीएम पिता भी इस मामल में आरोपी हैं। आरोप है कि एसडीओ अपनी नवविवाहिता पत्नी से दहेज में पचास लाख रुपए और जेवर की मांग कर रहे थे। डिमांड पूरी नहीं होने पर पति और उसके माता-पिता ने घर से भगा दिया। वहीं पुलिस का कहना है कि आरोपियों की जलद गिरफ्तारी की जाएगी।

हबीबगंज पुलिस के मुताबिक प्राची शर्मा पुत्री अरूण शर्मा (24) जावरा रतलाम में रहती है और एमबीए हैं। महिला के पिता सेक्शन इंजीनियर हैं। वर्ष 14 जूून 2018 में महिला की शादी खंडवा पीडब्ल्यूडी में पदस्थ एसडीओ सजल उपाध्याय से हुई थी। उनके पिता संजय उपाध्या सिलवानी में एसडीएम हैं और फिलहाल सिक लीव पर हैं। पुलिस का कहना है कि एसडीओ भोपाल के अरेरा कॉलोनी में अपने परिवार के साथ रहते हैं। जबकि उनकी पोस्टिंग खंडवा में है। शादी के बाद से महिला का पति संजय उपाध्याय, सास मीना उपाध्याय और ससुर संजय उपाध्याय दहेज में 50 लाख रुपए और सोने के जेवरात की मांग कर रहे थे। जब महिला के मायके पक्ष ने डिमांड पूरी करने से इंकार कर दिया तो आरोपी पक्ष ने उसे घर से बाहर निकाल दिया। जिसके बाद में महिला को कुछ दिन शेल्टर होम में रखा गया था। परिजनों के आने पर उसे उनके हवाले कर दिया गया।

– बेरहमी से पीटते थे ससुराल वाले

मामले में पीडि़ता प्राचि का कहना है कि उनके परिनजों ने शादी में चालिस लाख केश और जेवरात तथा जरूरी सामान दिया था। इसके बाद भी उन्हें दहेज की मांग को लेकर प्रताडि़त किया गया। सास ने एक बार गर्म पानी से भरी बाल्टी में उनका हाथ जबरिया डाल दिया। एक बार उन्हें थाली फैंककर मारी गई। ससुराल से निकाले जाने के बाद उन्हें शेल्टर होम में रहना पड़ा था। ससुर संजय उपाध्याय भी उनपर हाथ उठा चुके हैं।

– इनका कहना है

हमारा जुडिशियल सेपरेशन के लिए कोर्ट में केस है। प्राचि और मेरे बीच करार हुआ था कि दोनों स्वेछा से अलग होंगे। कहीं कोई शिकायत नहीं की जाएगी। पिछले दिनों इसी केस के संबंध में प्राचि को समंस जारी हुए थे। जिसके बाद एफआईआर दर्ज कराई गई है।

सजल उपाध्याय, एसडीओ,पीब्ल्यूडी, खंडवा