मंत्री पीसी शर्मा की बढ़ी मुश्किलें, चुनाव आयोग के निर्देश पर एफआईआर दर्ज

case-registered-against-minister-pc-sharma-for-breaking-code-of-conduct

भोपाल। मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार में जनसम्पर्क मंत्री पीसी शर्मा की मुश्किलें बढ़ गई है| शर्मा के खिलाफ चुनाव आयोग के निर्देश पर आचार संहिता का उल्लंघन करने का मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने एक चुनावी कार्यक्रम में सरकारी नौकरी देना का वादा किया था। जिसे लेकर बीजेपी ने चुनाव आयोग में उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। पूरे मामले पर संज्ञान लेने के बाद आयोग ने शर्मा को आचार संहिता का उल्लंघन करने के मामले में दोषी पाया है। 

दरअसल, पिछले दिनों भोपाल में नर्मदा भवन में आयोजित कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठक में मंत्री पीसी शर्मा ने कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए ‘बूथ जिताओ, नौकरी पाओ’ का नारा दिया था। मंत्री शर्मा ने कहा था 284 बूथ है और इन बूथ के कार्यकर्ताओं के लिए नौकरी, व्यवसाय की व्यवस्था करेंगे| इसको लेकर सवाल उठे थे, लेकिन मंत्री पीसी शर्मा अपने बयान पर अडिग रहे। इस बीच भाजपा ने इस पर आपत्ति जताते हुए चुनाव आयोग में मंत्री पीसी शर्मा के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत की थी। बीजेपी ने कहा था कि आदर्श आचार संहिता के अंतर्गत इस प्रकार का ऑफर नहीं दिया जा सकता और यह ऑफर स्पष्ट रूप से भ्रष्ट आचरण की श्रेणी में आता है। 

इस मामले में भाजपा की आपत्ति के बाद कलेक्टर ने नोटिस देकर जवाब मांगा था| नोटिस का जवाब आने के बाद टीटी नगर थाने में मंत्री पीसी शर्मा के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है |