फर्जी बताकर दबाया था मामला, खुलासे में छूट रहे पसीने

case-was-pressed-as-bogus

भोपाल। रातीबढ़ थाना इलाका स्थित नीलबढ़ की पूजा कॉलोनी में सिक्योरिटी एजेंसी संचालक के घर में घुसे हथियारबंद डकैतों ने बीती 21 जनवरी को डाका डाला था। इस मामले में एक माह से अधिक समय बीत जाने के बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं। हालांकि पुलिस ने वारदात के बाद में घटना को दबाने के लिए साधारण चोरी का प्रकरण दर्ज कर लिया था। फरियादी के बताए घटनाक्रम को झुटलाया जा रहा था। टीआई सुनील भदौरिया के अनुसार आरोपियों का फिलहाल कोई सुराग हाथ नहीं लगा है। उनकी तलाश में थाने की दो टीमें जुटी हैं। संदेहियों से पूछताछ की जा रही है। इस मामले में अब तक करीब आधा दर्जन से अधिक लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा चुकी है। 

यह है मामला 

पूजा कॉलोनी, नीलबढ़ निवासी एसएन पांडे सुरक्षा एजेंसी संचालक हैं। बड़े बेटे प्रकाश उनके वेयर हाउस संचालित करते हैं। वे शहर में पदस्थ रहीं एक थाना प्रभारी के रिश्तेदार भी हैं। प्रकाश ने बताया कि उनका एक मकान इंदौर में भी है। घटना के तीन दिन पहले ही वे इंदौर से अपनी बहन सुप्रिया के साथ नीलबढ़ आए थे। प्रकाश की तीस जनवरी को शादी तय है, इसलिए एसएन पांडे कार्ड बांटने अपने मूल निवास रीवा गए हुए थे। रविवार रात घर पर प्रकाश और सुप्रिया अपनी मां सविता के साथ थे। प्रकाश अपने कमरे में सो रहे थे, जबकि बहन और मां दूसरे कमरे में थे। सोमवार तड़के करीब चार बजे प्रकाश को किसी की आहट सुनाई दी। दरवाजा खोलकर देखा तो उन्हें नकाबपोश 6-7 बदमाश नजर आए। उनके हाथ में डंडे, रॉड और कुल्हाड़ी थी। प्रकाश ने फौरन दरवाजा बंद किया और उस कमरे में आ गए जहां मां-बहन सो रहे थे।