बढ़िया काजू के लिये गोवा जाने की ज़रूरत नहीं, मध्यप्रदेश में होगी अब काजू की खेती

भोपाल। मध्यप्रदेश के किसानों के लिए अच्छी खबर है, अब अपने मध्यप्रदेश में काजू की खेती शुरू होने जा रही है। इस खेती के शुरू होने से किसानों को काफी लाभ होने वाला है। मध्यप्रदेश सरकार ने केंद्र सरकार की मदद से इसकी शुरुआत प्रदेश के चार जिलों में कर दी है। इन जिलों में काजू के डेढ़ लाख से ज्यादा पौधे  लगा दिए गए हैं। जिन जगहों पर काजू की खेती शुरू हुई है वहां की जलवायु को इसके लिए उपयुक्त माना गया है।

दरअसल काजू और कोको विकास निदेशालय, कोच्चि ने मध्यप्रदेश के बैतूल, छिंदवाड़ा, बालाघाट और सिवनी जिले की जलवायु को काजू की खेती के लिए उपयुक्त पाया। इन जिलों में राष्ट्रीय कृषि विकास योजना रफ्तार में इस वर्ष काजू क्षेत्र विस्तार कार्यक्रम में लागू कर दिया गया है। मध्यप्रदेश के जिन चार जिलों में काजू की खेती शुरू हुई है वहां अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और समान्य वर्ग के किसानों ने कुल 1430 हेक्टयर क्षेत्र में काजू के 1.60 हजार पौधों का रोपण किया है। इन जिलों में जनवरी से ही पौधे लगाने के काम शुरू हो गए था। इन चारों जिलों में सबसे ज्यादा बैतूल के किसान इसकी खेती कर रहे हैं। बैतूल में पहले 400 हेक्टर में पौधे लगाए गए थे लेकिन अब यहां 1000 हेक्टर में खेती हो रही है। बता दें कि इन चारों जिलों के किसान अभी तक लगाए गए पौधों के अलावा एक लाख 26 हजार पौधे और लगाएँगे।

बढ़िया काजू के लिये गोवा जाने की ज़रूरत नहीं, मध्यप्रदेश में होगी अब काजू की खेती