बोर्ड परीक्षाओं के पैटर्न में किया गया बदलाव, फरवरी से शुरू होनी है कक्षा 10 वीं और 12 वीं की परीक्षा

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। लगातार पिछले दो साल से मध्य प्रदेश में भी बोर्ड कक्षाओं की परीक्षा रद्द की जा रही है, छात्रों का पिछली कक्षाओं के अंकों के आधार पर रिजल्ट बनाया गया है। हालांकि इस बार माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) की दसवीं व बारहवीं परीक्षाओं का टाइम टेबल जारी कर दिया है। और इस टाइम टेबल के अनुसार इस बार बोर्ड परीक्षाएं फरवरी से ही शुरू हो रही है। 12 फरवरी से 31 मार्च तक आयोजित की जाने वाली इन परीक्षाओं के पैटर्न में इस बार बदलाव किया गया है। माशिमं ने इस वर्ष से परीक्षा परिणाम बेहतर करने के लिए सत्र 2021-22 के परीक्षा पैटर्न में भी बदलाव किया है। प्रश्न पत्र में अब 40 फीसद वस्तुनिष्ट प्रश्न पूछे जाएंगे। अभी तक 25 फीसद वस्तुनिष्ट प्रश्न पूछे जाते थे।इसके अलाव 5 या 6 अंक के दीर्घ उत्तरीय प्रश्नों की संख्या भी कम होंगी।

Video : जब Priyanka Chopra ने पति निक जोनस से कहा “छोड़ दो आंचल”

हालांकि  मंडल ने परीक्षा के आदेश जारी कर दिए हैं लेकिन अभी समय-सारिणी जारी नहीं की गई है। इस सप्ताह के अंदर माशिमं परीक्षा समिति की बैठक आयोजित कर जल्द ही समय-सारणी जारी कर देगा।वहीं इस साल बोर्ड परीक्षा के लिए अब तक 18 लाख विद्यार्थियों ने आवेदन भरे हैं। विद्यार्थी 100 रुपये विलंब शुल्क के साथ 31 दिसंबर तक आवेदन कर सकते हैं। इसके बाद विद्यार्थी 15 जनवरी तक विलंब शुल्क दो हजार रुपये के साथ परीक्षा फार्म भर सकते हैं। इसके बाद भी अगर किसी विद्यार्थी का फार्म जमा नहीं हो सका है तो वे 31 जनवरी तक पांच हजार रुपये एवं परीक्षा शुरू हाने से एक माह पूर्व तक 10 हजार रुपये विलंब शुल्क जमा कर आवेदन कर सकता है।

गोवर्धन पूजा पर सीएम शिवराज का संदेश- “पर्यावरण संरक्षण का संकल्प लें”

माध्यमिक शिक्षा मंडल ने नौवीं से बारहवीं तक की कक्षाओं के तिमाही व छमाही परीक्षा के अंक मांगें हैं, ताकि कोरोना संक्रमण फैलने के कारण कहीं परीक्षाएं रद्द होंगी तो इस आधार पर परीक्षा परिणाम तैयार किया जा सके। दिसंबर तक सभी स्कूलों से विद्यार्थियों के अंक मांगें गए हैं, जिन्हें मंडल की वेबसाइट पर अपलोड करना जरूरी होगा।