मुख्यमंत्री ने रात में फिर बुलाई आपात बैठक, लगातार कर रहे राहत कार्यो की मॉनीटिरिंग

सीएम शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, हरप्रीत कौर रीन। ग्वालियर चंबल संभाग में आई बाढ़ में राहत कार्य जारी है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह खुद लगातर अधिकारियों के संपर्क में है। और पल पल की स्थिति का जायज़ा ले रहे है। एक बार फिर मंगलवार रात में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान लगभग 10.30 बजे वल्लभ भवन पहुँचे जहां स्टेट सिचुएशन रूम से वह बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों की यथा स्थिति की समीक्षा कर रहे है। बाढ़ ग्रस्त जिला प्रशासन अधिकारियों, एसडीआरएफ, एनडीआरएफ और बचाव कार्यो में लगे विभिन्न दलों से वह चर्चा कर उन्हें निर्देश दे रहे है।

Panna : “खटिया पर सिस्टम” बीमार युवक को खाट पर लिटाकर ले गए अस्पताल

बैठक के दौरान कुछ राहत भरी खबर सामने आई है। अधिकारियों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को जानकारी देते हुए बताया शिवपुरी के पोहरी में पानी कम हुआ है, नदियों का जलस्तर भी स्थिर है, फिलहाल स्टेट सिचुएशन रूम से ग्वालियर चम्बल संभाग के आईजी कमिश्नर, बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों के कलेक्टर एसपी जिला प्रशासन , डीजी होमगार्ड, एयरफोर्स के रेस्क्यू ग्रुप कैप्टन शेरावत जुड़े है। बैठक में मुख्यमंत्री जिलेवार बाढ़ की स्थिति का जायजा ले रहे हैं,
ऐसे इलाके जहाँ लगातर रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। वहां मौजूद अधिकारियों और रेस्क्यू टीम से भी बातचीत जारी है।श्योपुर के कुछ स्थानों पर लोग अभी बाढ़ के पानी मे घिरे हुए है। एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की पर्याप्त टीम वहां लोगो को रेस्क्यू करने में जुटी है। वही दतिया के पाली गांव में लोग फसें हुए है उन्हें रेस्क्यू करने का काम चल रहा है।

इस सब्जी को खाने से दूर होती है कई गंभीर बीमारियां, मानी जाती है सबसे ताकतवर!

बैठक में शिवपुरी के कलेक्टर ने जानकारी दी है। कि जल स्तर घट रहा है। साथ ही सात सौ से ज्यादा लोग रेस्क्यू कर निकाले जा चुके हैं। कोई जन हानि की आशंका नहीं है। इसके साथ ही श्योपुर दतिया में आर्मी भी वोट ऑपरेशन कर रही है। बैठक में सीएम ने सबसे पहले ग्वालियर कमिश्नर से चर्चा की। इसके बाद विजयपुर एस डी एम ने भी बताया कि करीब सौ लोगों को कल और बीस लोगों को आज बाढ़ से निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। वही दतिया कलेक्टर ने भी ग्राम पाली और अन्य बाढ़ प्रभावित के संबंध में जानकारी दी,सेना के अधिकारी भी जानकारी दे रहे है कि किस तरह रेस्क्यू अभियान जारी है। जीवन रक्षक बोट सहित चिकित्सा उपकरण भी साथ हैं।
अब से कुछ देर बाद ही सेना के जवान नरवर और पोहरी क्षेत्र में पहुंचेंगे।

“सेफ टूरिज्म” के लिए तैयार मध्यप्रदेश, पर्यटन विभाग ने की ये तैयारियां

बैठक में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अधिकारियों से बातचीत करते हुए कहा कि मुझे विश्वास है आप लोगों के प्रयास सफल होंगे। सेना की भूमिका सदैव सराहनीय रही है। एस डी आर एफ का सहयोग लें।यह परीक्षा की घड़ी है। अधिकारी युक्ति और बुद्धि से कार्य लेते हुए स्थिति को सामान्य बनाने में जुट जाएं।