मुख्यमंत्री जन सेवा शिविर : अधिकारियों को लोगों की समस्या जल्द दूर करने के निर्देश

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मुख्यमंत्री जन सेवा शिविर के दौरान राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ग्राम पंचायत झिला, पचमा तथा खेजरा माफी पहुंचे जहां उन्होंने अपने उद्बोधन में क्षेत्रवासियों को संबोधित करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश सरकार हर ग्रामवासी और शहरवासी को छोटी-छोटी समस्याओं से मुक्त कराने के लिए योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए हर ग्राम पंचायत में शिविर लगा रही है।

यह भी पढ़ें… नीमच जिला चिकित्सालय का निरीक्षण करने पहुंची कायाकल्प टीम, गाइडलाइन का पालन करने के दिए निर्देश

मंत्री राजपूत ने कहा कि हमारा लक्ष्य है कि हर व्यक्ति को योजनाओं का लाभ मिले तथा हर परिवार हर गांव समस्याओं से मुक्त हो। उन्होंने आवाहन किया कि सभी लोग जागरूक बने तथा शिविर में पहुंचकर योजनाओं का लाभ लें, क्योंकि यह शिविर नहीं समस्याओं का समाधान शिविर है। उन्होंने कहा कि जिन समस्याओं के लिए आप कई दिनों तक सरकारी कार्यालयों के अधिकारियों के चक्कर लगाते थे अब इस शिविर के माध्यम से वह समस्याएं आपकी चंद दिनों में ही समाप्त हो जाएंगी। हर ग्राम पंचायत में दो बार शिविर लगाए जा रहे हैं। प्रथम शिविर में आवेदन लेकर अधिकारी जाएंगे तथा दूसरे शिविर में यह अधिकारी आपकी समस्याओं का निदान करके लाएंगे। इसलिए सभी लोग शिविर का लाभ लें और अपने आवेदन अपनी समस्याएं अधिकारियों तक पहुंचाएं। मंत्री राजपूत ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि जो लोग आवेदन नहीं लिख सकते हैं उनके आवेदन तथा समस्याएं अधिकारी खुद लिखे और जल्द से जल्द उनका निराकरण करें।

चार करोड़ की लागत से खुलेगा अस्पताल 

मुख्यमंत्री जन सेवा शिविर के दौरान ग्राम पंचायत झिला तथा खेजरा माफी में राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत द्वारा 4 करोड़ की लागत से बनने वाले भव्य अस्पताल का भूमि पूजन किया। इन अस्पतालों में अत्याधुनिक चिकित्सा उपकरण उपलब्ध रहेंगे तथा प्रसव की सुविधा भी होगी ताकि ग्रामीण क्षेत्र की माताओं, बहनों को दूर अस्पताल में ना जाना पड़े। इस के अलावा ग्राम पंचायतों में मंगल भवन, कचरा गाड़ी, सहित सड़क का भूमि पूजन कर विकास कार्यों की बड़ी सौगात क्षेत्रवासियों को दी। साथ ही हर ग्राम पंचायत में चल रहे नल जल योजनाओं के कार्यों को लेकर क्षेत्रवासियों को जागरूक रहने को कहा। मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि ग्राम पंचायत में हो रहे सभी काम आपके लिए हैं और आपको ही इसकी निगरानी करना है जो ठेकेदार, कर्मचारी ठीक से काम ना करें उसकी शिकायत करें क्योंकि यह काम एक बार होते हैं इसलिए इनकी निगरानी करना आपका दायित्व है क्योंकि यह कार्य आपके लिए ही है।