एमपी में अब नहीं छलकेंगे जाम, शराब कारखाने और गोदाम सील

chunav-ayog-order-to-seal-sharaab-factory-

भोपाल। मप्र में विधानसभा चुनाव के लिये मतदान के 72 घंटे पहले की तैयारियों को अंजाम दे दिया गया है। आयोग ने मतदान से 72 घंटे पहले ही प्रदेश की सभी 40 शराब फेक्ट्री और 80 शराब के गोदामों को सील कर दिया है, जिससे कि फेक्ट्री और गोदाम से बाहर शराब नहीं ला सकेंगे। इसी तरह अन्य राज्यों से भी मप्र में शराब लाने पर रोक रहेगी।

यह जानकारी रविवार को प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी व्हीएल कांताराव ने पत्रकार वार्ता के दौरान दी। उन्होंने बताया कि रविवार शाम पांच बजे से ही प्रदेश के सभी 456 नाकों को भी सील कर दिया गया है। फ्लाइंग स्कवाड और सर्विलांस की 1770 टीम निगरानी कर रही है। सीईओ ने बताया कि यह भी सुनिश्चित किया गया है कहीं भी दस से अधिक वाहनों का काफिला नहीं बनाया जा सकता।

पुलिस की तैनाती

कांताराव ने बताया कि मप्र के 85 फीसदी पुलिसकर्मियों की चुनाव ड्यूटी लगाई गई है। वहीं 90 फीसदी होमगार्ड की भी ड्यूटी लगाई गई है। इस तरह मप्र के 80 हजार पुलिसकर्मियों की चुनाव ड्यूटी लगाई गई है। वहीं एक लाख पुलिसकर्मी बाहर से तैनात किये जा रहे हैं, इनमें 67 हजार पेरा मिलिट्री फोर्स शामिल हैं। इस तरह मप्र में चुनाव के लिये एक लाख 80 हजार पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई जा रही है। होमगार्ड के शत प्रतिशत जवानों आ गये हैं। वहीं पेरामिलिट्री फोर्स की 635 कंपनियां भी आ गई है। बालाघाट जिले को दो अतिरिक्त पेरामिलिट्री फोर्स की कंपनी दी गई है। सबसे अधिक बालाघाट में 76 कंपनियां तैनात होंगी। भिंड में 24, छिंदवाड़ा और मुरैना में 19- 19, सागर और भोपाल में 18-18 कंपनियां तैनात होंगी।