नागरिकता कानून: भ्रम दूर करने जनता के बीच जाएगी भाजपा, सड़क पर विरोध करेगी कांग्रेस

भोपाल। नागरिकता संशोधन काननू के खिलाफ देशभर में हो रही विरोध के बीच भाजपा काननू की जानकारी देने के लिए जनता के बीच जाएगी। भाजपा सांसद, विधायक एवं अन्य पदाधिकारी जल्द ही लोगों के बीच जाकर जनसभाएं करेंगे और नेताओं की टोली गांव-गांव जाएगी। भाजपा हाईकमान ने सभी राज्यों को इसके निर्देश दे दिए हैं। जल्द ही मप्र भाजपा कार्यक्रम बनाकर नेताओं को जनता के बीच भेजेगी। 

इंदौर पहुंचे भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कांग्रेस ने वोट बैंक की राजनीति की, इसलिए आज भी वह देश से ज्यादा वोट बैंक के लिए विशेष समाज के लोगों को उकसाकर बवाल कराया। भाजपा ने तय किया कि आप गुमराह करेंगे तो हम दूध का दूध, पानी का पानी कर घर-घर जाकर सच्चाई सामने लाएंगे। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा हम सभी भाजपा कार्यकर्ता घर-घर जाएंगे, अलख जगायेंगे, जागरण का मंत्र फूंकेंगे और इस नागरिकता कानून के बारे में जो नहीं समझा है, उसको समझाएंगे| 

3 करोड़ से ज्यादा परिवारों तक पहुंचेगी भाजपा 

लोकसभा में सीएए पास होने से पहले ही विपक्ष ने विरोध करना शुरू कर दिया था। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भाजपा संसदीय दल की बैठक में कहा कि सांसद अपने-अपने क्षेत्रों में जाकर कानून के संबंध में जनता को सही जानकारी दें। इस बीच देश के कई हिस्सों में सीएए का विरोध शुरू हो गया। इस वजह से भाजपा हाईकमान ने इस मसले पर सांसदों को जनता के बीच नहीं उतारा।  बीजेपी का कहना है कि विपक्ष के कुछ दलों के द्वारा अफवाह और धर्म की राजनीति की जा रही है और बीजेपी उसको जनता के बीच जाकर उजागर करेगी| बीजेपी विपक्ष की झूठ की राजनीति का पर्दाफाश करेगी और देशभर में जाकर जवाब देगी| भारतीय जनता पार्टी ने साफ किया है कि वह इसको लेकर एक अभियान चलाएगी जिसके तहत 3 करोड़ से ज्यादा परिवारों से संपर्क किया जाएगा और इस दौरान देश में रैली और सभा आयोजित की जाएंगी| इन रैलियों और सभाओं का मकसद होगा कि जनता के के बीच नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी को लेकर उठ रहे सवालों और फैल रही अफवाहों को दूर करें|

 सीएए के खिलाफ सड़क पर उतरेगी कांग्रेस

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के निर्देश पर कांग्रेस देश भर में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में उतरेगी। राजधानी भोपाल में पीसीसी चीफ कमलनाथ के नेतृत्व में कांग्रेस नेता 25 दिसंबर को पैदल मार्च करेंगे। जिसमें कांग्रेस के सभी विधायक, मंत्री एवं अन्य पदाधिकारी बड़ी संख्या में शामिल होंगे। कांग्रेस कमेटी के संगठन प्रभारी उपाध्यक्ष चंद्रप्रभाष शेखर ने बताया कि एआईसीसी द्वारा नागरिकता संशोधन कानून का हर राज्य की राजधानी में विरोध करने का कार्यक्रम बनाया है। मध्यप्रदेश की राजधानी में 25 दिसंबर को कांग्रेस पैदल मार्च करेगी। शेखर के मुताबिक इस पैदल मार्च का नेतृत्व मुख्यमंत्री कमलनाथ करेंगे।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here