नागरिकता संशोधन बिल राज्यसभा में भी पास, शिवराज बोले- शरणार्थी भाई-बहनों को नया जीवन मिला

भोपाल। नागरिकता संशोधन विधेयक, लोकसभा के बाद बुधवार को राज्यसभा से भी पास हो गया है। अब नागरिकता विधेयक को संसद के दोनों सदनों से मंजूरी मिल गई है। अब राष्ट्रपति के विधेयक पर हस्ताक्षर के बाद यह कानून बन जाएगा। नागरिकता संशोधन बिल राज्यसभा में पास होने के बाद मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस पर खुशी जताई है। उन्होंने कहा है कि नागरिकता संशोधन बिल पारित होने से लाखों शरणार्थी भाई-बहन जिन्हें जिंदगी में केवल यातना मिली, उन्हें नया जीवन मिला है। 

शिवराज सिंह चौहान ने देर रात मीडिया को प्रतिक्रिया देते हुए ऐतिहासिक बिल को पारित करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को बधाई दी है। शिवराज ने कहा ‘सचमुच में हमारे लाखों वो शरणार्थी भाई बहन जिनकी जिंदगी में उन्हें केवल यातना मिली थी वो चाहे पाकिस्तान से आये हो या बांग्लादेश से उन्हें नया जीवन मिला है। उन्हें यातनाओं से मुक्ति मिली है। इस ऐतिहासिक बिल को पारित करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का अभिनंदन करता हूं। वो शरणार्थियों के लिए ईश्वर का वरदान साबित हुए हैं। गृृहमंत्री अमित शाह का भी आभार और सभी सांसद मित्रों को धन्यवाद जिन्होंने इस बिल को अपना समर्थन दिया है।

नागरिकता संशोधन बिल का कांग्रेस द्वारा विरोध किए जाने पर शिवराज ने हमलावर अंदाज में कहा कि कांग्रेस और इमरान खान एक ही भाषा बोल रहे हैं। पाकिस्तान ने इस बिल का विरोध किया तो कांग्रेस ने भी विरोध पर उतर आई। उन्होंने कहा कि कौन नहीं जानता पाकिस्तान में कितने अल्पसंख्यक प्रताडि़त हुए है। इंदौर में जब मैं मुख्यमंत्री था तब पाकिस्तान से आई बेटियों ने मुझसे कहा था कि हम पाकिस्तान वापस नहीं जाएंगे। वहां हमारा अपमान होता है निकाह के लिए उठा लिया जाता है धर्मांतरण किया जाता है। शिवराज ने कहा कि यह बिल किसी भारतवासी के खिलाफ नहीं है। यह बिल केवल हमारे शरणार्थी भाई बहनों के लिए है।