नेताओं के बेटा-बेटी की दावेदारी पर विरोध, अभिषेक बोले- वंशवाद के आरोप लगे तो वापस लूंगा नाम

Claims-outside-the-office-and-protester-bjp-office-in-bhopal-madhypradesh

भोपाल। भाजपा के प्रदेश कार्यालय में मंगलवार को प्रदेश चुनाव समिति की बैठक हो रही है। इसमें सभी 29 संसदीय सीटों पर चर्चा कर संभावित नामों के पैनल तैयार किए जाएंगे। बैठक में प्रदेश प्रभारी डॉ. विनय सहस्त्रबुद्धे और लोकसभा प्रभारी स्वतंत्रदेव सिंह भी मौजूद हैं। दावेदारों ने समर्थकों के साथ भाजपा कार्यालय के बाहर डेरा जमाया हुआ है। टिकट के लिए दावा पेश करने आए नेताओं के बेटा-बेटी तक पार्टी मुख्यालय पहुंच गए हैं। पूर्व मंत्री गौरीशंकरऔर राघव जी अपनी बेटियों के लिए  टिकट की दावेदारी कर रहे है तो वही नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने अपने बेटे अभिषेक भार्गव के लिए टिकट मांगा है। ऑफिस के बाहर दावेदारों और विरोध जताने वालों का भी जमावड़ा लगा है। विरोधियों द्वारा अपनी ही पार्टी पर वंशवाद का आरोप लगाया जा रहा है और नेताओं के बेटे-बेटियों को टिकट ना दिए जाने की बात सामने आ रही है।वही वर्तमान सांसदों का भी विरोध देखने को मिल रहा है।

वही बैठक की खबर लगते ही सभी बड़े नेता भाजपा कार्यालय पहुंचे हैं। कई नेता टिकट की दावेदारी के लिए पहुंचे हैं तो कई दिग्गज नेता अपने बच्चों, भाई भतीजों के लिए टिकट की मांग कर रहे हैं और जोर लगा रहे हैं। नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने अपने बेटे अभिषेक भार्गव और पूर्व मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने अपनी बेटी मौसम के लिए टिकट की मांग की है।नेता अपने बेटे-बेटियों के साथ बीजेपी कार्यालय पहुंचे है और दमदारी से दावेदारी पेश कर रहे है।  इसी बीच मीडिया से चर्चा के दौरान गोपाल भार्गव के बेटे अभिषेक भार्गव ने साफ कहा है कि मेरी दावेदारी गोपाल भार्गव के बेटे के तौर पर न मानी जाए। मैंने 2009 और 2014 में भी पार्टी का काम किया। पार्टी बड़े लक्ष्य के साथ चुनावी मैदान में उतर रही है अगर मेरी दावेदारी से वंशवाद के आरोप लगते हैं तो मैं अपनी दावेदारी वापस लूंगा ।वही पूर्व मंत्री गौरी शंकर बिसेन की बेटी मौसम ने कहा मैं सिर्फ गौरीशंकर बिसेन ही नहीं पूरे बीजेपी परिवार की बेटी हूं। कार्यकर्ता के तौर पर मैं लंबे समय से काम कर रही हूं, सिर्फ नेता के बेटा बेटी होने के आधार पर हमें टिकट देने का विरोध नहीं होना चाहिए।

इधर शिवराज की पत्नी साधना सिंह का विरोध

वही पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के रिश्तेदार रवीश चौहान ने पत्��ी साधना के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।उन्होंने साधना को विदिशा से टिकट देने पर आपत्ति जताई है।  रवीश चौहान का कहना है कि अगर साधना सिंह विदिशा से चुनाव लड़ती हैं तो मैं उनके खिलाफ चुनाव लड़ूंगा। शिवराज बुधनी से और पत्नी साधना विदिशा से अगर चुनाव लड़ेंगे तो आम कार्यकर्ता कहां जाएंगे। उन्होंने विदिशा से टिकट मांगा है और ये साफ कर दिया है शिवराज सिंह चौहान के अलावा अगर कोई भी इस सीट से चुनाव लड़ेगा तो उसका क्षेत्र में विरोध होगा।

सांसदों को टिकट देने का भी विरोध

वही दावेदारों के साथ साथ मौजूदा सांसदों का भी विरोध देखने को मिला है। सागर सांसद और केंद्रीय मंत्री वीरेंद्र खटीक के बाद राजगढ़ सांसद रोडमल नाग  का भी विरोध किया जा रहा है। इसकी शिकायत भोपाल से लेकर दिल्ली तक के नेताओं से की गई है।  कार्यकर्ताओं तक इन सांसदों के विरोध में है।  स्थानीय लोगों में भी नाराजगी है, वही सर्वे रिपोर्ट में भी इनकी स्थिति अच्छी नही आई है।