CM और CS की पसंद IAS अविनाश लवानिया बने भोपाल कलेक्टर

भोपाल| रविंद्र सिंह राजपूत| मध्य प्रदेश (madhya Pradesh) की राजधानी में कोरोना (Corona) के बढ़ते मामलों के बीच सरकार ने भोपाल कलेक्टर तरुण पिथोड़े (Tarun Pithode) का तबादला कर दिया । उनके स्थान पर अविनाश लवानिया ( IAS Avinash Lavania ) को कलेक्टर बनाया गया है। सरकार ने गेहूं खरीदी में ऑल टाइम रिकॉर्ड तक पहुंचाने का तोहफा उन्हें भोपाल कलेक्टर के रूप में दिया है| बता दें कि अविनाश खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण के डायरेक्टर और राज्य भंडार गृह निगम के प्रबंध संचालक का अतिरिक्त प्रभार संभाल रहे थे। निवर्तमान कलेक्टर तरुण पिथोड़े को खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता संरक्षण मध्य प्रदेश का संचालक बनाया गया है।

2009 बैच के आईएएस अधिकारी अविनाश लवानिया मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) के पसंद के अधिकारी बताये जाते हैं| पिछले दिनों उनको भोपाल कलेक्टर बनाये जाने की अटकलें जोरों पर थी| लवानिया उस समय भी चर्चाओं में आ गए थे जब मुख्यमंत्री ने विशेष मिशन के तहत 3 सदस्यीय हाई पावर कमेटी में बतौर सदस्य शामिल कर इंदौर भेजा था।

भोपाल के नए कलेक्टर बने अविनाश लवानिया के सामने कोरोना के बढ़ते मामलों की रोकथाम और राजधानी होने के चलते यहां प्रशासनिक व्यवस्था चुनौती होगी| हालांकि लवानिया एक सक्षम अधिकारी माने जाते हैं और भोपाल में कामकाज का उन्हें पहले से अनुभव है| लवानिया भोपाल नगर निगम के कमिश्नर रह चुके हैं। मई 2018 में लवानिया को होशंगाबाद कलेक्टर से तबादला कर भोपाल का नगर निगम कमिश्नर बनाया था| इस बीच कमलनाथ सरकार आने के बाद उनका तबादला हो गया था| वे उज्जैन नगर निगम आयुक्त और सिंहस्थ मेला अधिकारी की जिम्मेदारी भी संभाल चुके हैं। उन्होंने अपनी कार्यकुशलता और प्रशासनिक सूझबूझ का परिचय देते हुए सिंहस्थ महाकुंभ में सफलतापूर्ण संचालन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी|