एक्शन में CM कमलनाथ, विधायक पद की शपथ लेने के बाद किए ये बड़े ऐलान

CM-Kamal-Nath-in-action

भोपाल। छिंदवाड़ा उपचुनाव में विधायक चुने गए सीएम कमलनाथ ने सोमवार को विधायक पद एवं गोपनीयता की शपथ ली। विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति ने उन्हें शपथ दिलाई । इस दौरान कई मत्रियों समेत नेताओं ने सीएम कमलनाथ को बधाई दी। वही विधायक पद की शपथ लेते हुए कमलनाथ एक्शन में नजर आए उन्होंने कहा कि आज मैंने विधानसभा के सदस्य के रूप में पहली बार शपथ ली है। यह सही है कि मैंने लोकसभा के सदस्य के रूप में कई बार शपथ ली। दोनों लोकतंत्र के पवित्र मंदिर हैं। इस दौरान उन्होंने कई बड़े ऐलान किए और कहा हमारी पहली प्राथमिकता है कृषि क्षेत्र में काम किया जाए ।

नाथ ने कहा कि कृषि क्षेत्र में क्रांतिकारी कदमों के साथ प्रदेश के किसानों को खुशहाल बनाना। आज 70% से अधिक लोग कृषि व्यवस्था से जुड़े हैं। कृषि व्यवस्था में सुधार की आवश्यकता है। किसानों के सम्मान को बढ़ाना, उन्हें उनकी उपज का सही दाम दिलाना, उन्हें आत्मनिर्भर व कर्ज मुक्त बनाना, हमारा पहला लक्ष्य।नाथ ने आगे कहा कि हमारा दूसरा प्रमुख लक्ष्य है नौजवानों को रोजगार उपलब्ध कराना। नौजवानों का भविष्य कैसे सुरक्षित हो।

पीएम से फिर मिलेंगे सीएम 

प्रदेशभर में बढ़ते जल संकट को लेकर सीएम ने कहा कि ये 15 साल की जो लापरवाही थी, आज उसे भुगतना पड़ रहा है। भाजपा ने 15 साल कुछ नहीं किया ये उसका नतीजा है। कमलनाथ ने कहा कि दिल्ली दौरे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मैंने मुलाकात कर प्रदेश के हित के बारे में चर्चा की है। उन्होंने सकारात्मक रवैया अपनाते हुए कहा है कि प्रदेश हित के सारे काम प्राथमिकता से पूरे किए जाएंगे। मेरी उनसे अगले चार-पांच दिनों बाद उनसे फिर एक मुलाकात है। फिर प्रदेश के कई मुद्दों पर उनसे बात करूंगा।

दुष्कर्म और हत्या के आरोपी को एक महीने में सजा दिलाने की कोशिश 

भोपाल में मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म के बाद ह्त्या की घटना की निंदा करते हुए कहा कि भोपाल सहित प्रदेश के अन्य स्थानों पर मासूमों के साथ दुष्कर्म की घटनाएं बेहद दुखद है। भोपाल की घटना का आरोपी पकड़ा गया है। हम 48 घंटे में चार्जशीट दाखिल करेंगे। हमारी कोशिश होगी कि 1 माह के अंदर आरोपी को कड़ी से कड़ी सजा मिले। पुलिस प्रशासन को को निर्देश दिए हैं कि इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए कड़े से कड़े कदम उठाए जाएं। किसी को बख़्शा नहीं जाये।इसके साथ ही उन्होंने उज्जैन की दुष्कर्म पीड़िता के परिजनों को पांच लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा भी की।वही   जबलपुर की दुष्कर्म पीड़िता मासूम बालिका का इलाज का खर्च सरकार द्वारा उठाने की बात कही।