भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ मंगलवार सुबह छत्तीसगढ की राजधानी रायपुर पहुंचे। वे यहां सेंट्रल काउंसिल जोन की 22वीं बैठक में शिरकत करेंगे। केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में होने जा रही मध्य क्षेत्रीय परिषद की बैठक में छत्तीसगढ़ सहित उत्तरप्रदेश, उत्तराखण्ड और मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री के अलावा इन राज्यों के दो-दो मंत्री, मुख्य सचिव और वरिष्ठ विभागीय अधिकारी शामिल होंगे। प्रत्येक राज्य से 10 से 12 अधिकारियों का दल बैठक में शामिल होगा।

मुख्यमंत्री कमलनाथ के रायपुर पहुंचने पर छग के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने एयरपोर्ट पर उनकी अगुवानी की। मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ मुख्य सचिव एस आर मोहंती ओर डीजीपी वी के सिंह भी रायपुर पहुंचे है। एयरपोर्ट पर पत्रकारों से चर्चा करते हुए सीएम कमलनाथ ने कहा कि मध्य क्षेत्रीय परिषद की बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा होगी। उन्होंने कहा कि राज्य और केंद्र सरकार में समन्वय होना चाहिए और इस समय इसकी सबसे ज्यादा आवश्कता है। सीएम कमलनाथ ने कहा कि बहुत से ऐसे मुद्दे हैं जिसमें टकराव की स्थिति बनी हुई है, लेकिन टकराव से केवल राज्य को ही नहीं बल्कि देश को भी हानि होती है।

उल्लेखनीय है कि मध्य क्षेत्रीय परिषद का गठन केन्द्र सरकार और परिषद में शामिल राज्यों के समन्वय से इन राज्यों में संतुलित सामाजिक-आर्थिक विकास के साथ अन्तर्राज्यीय समस्याओं को हल करने के उद्देश्य से एक उच्च स्तरीय सलाहकार मंच के रूप में किया गया है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मध्य क्षेत्रीय परिषद के उपाध्यक्ष हैं, इसलिए यह बैठक छत्तीसगढ़ में आयोजित की जा रही है। क्षेत्रीय परिषद में शामिल राज्यों के मुख्यमंत्री को रोटेशन में परिषद का उपाध्यक्ष बनाया जाता है। जिनका कार्यकाल एक वर्ष का होता है।