CM-Kamal-Nath-strict-on-law-and-order

भोपाल

सत्ता में आने के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ एक्शन मोड़ में आ गए है और कानून व्यवस्था पर उठ रहे सवालों को लेकर अधिकारियों को सख्ती से नियमों का पालन करने की हिदायद दे रहे है। अब मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पुलिस महानिदेशक को असामाजिक व आपराधिक तत्वों पर प्रदेश भर में कडी कार्रवाई के निर्देश दिए है। मुख्यमंत्री ने दो टूक शब्दों में कहा है कि अपराधिक तत्वों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाए। छोटा हो या बड़ा सभी पर बगैर किसी दबाव के कड़ी कार्रवाई की जाए।  इसके बाद  पुलिस महानिदेशक ने भी  प्रदेशभर के सभी पुलिस अधीक्षको को अपराधिक तत्वों व असामाजिक तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश जारी कर दिए हैं।

दरअसल, बीते दिनों अपहरण, हत्याएं और प्रदेश में हो रही घटनाओं को लेकर जमकर हंगामा मचा था।इसको लेकर सरकार की जमकर किरकिरी भी हुई थी। वही विपक्ष ने कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए थे।सड़क से लेकर सदन तक जमकर हो -हल्ला हुआ था। चुंकी अब लोकसभा चुनाव नजदीक है और विपक्ष एक बार फिर जनता के बीच कानून व्यवस्था को लेकर सवाल उठाने की तैयारी में है इसके पहले ही कमलनाथ सरकार ने अधिकारियों को निर्देश देकर प्रदेश की कानून व्यवस्था को दुरस्त करने के निर्देश दिए है।लोकसभा चुनाव से पहले सरकार कोई रिस्क नही लेना चाहती है। कमलनाथ के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने बताया कि मुख्यमंत्री कमलनाथ प्रदेश पर अपराधों मैं शीर्ष प्रदेश के दाग को धोना चाहते हैं। इसे दोबारा शांति का टापू बनाना चाहते हैं।उसको लेकर सरकार समय-समय पर हरसंभव कदम उठाएगी। आमजन की थानों में सुनवाई हो। उनकी शिकायतों पर तुरंत कार्रवाई हो।मुख्यमंत्री के स्पष्ट निर्देश है कि अपराधिक तत्वों पर कार्रवाई में लापरवाही बरतने वाले पुलिस अधिकारियों को भी दंडित किया जाए। आम जन की शिकायतों में भी जो अधिकारी लापरवाही बरते उसे भी दंडित किया जाए।

 सलूजा ने बताया कि मुख्यमंत्री कमलनाथ के दिशा निर्देश के बाद सभी जोन के आईजी अपने अपने क्षेत्रों में हुई कार्रवाई की जानकारी पुलिस मुख्यालय को देंगे। जिसकी मुख्यमंत्री स्वयं कार्रवाई की समीक्षा करेंगे। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद प्रदेश के सभी थानों पर अपराधिक तत्वों के पुलिस रिकॉर्ड को अपडेट कर , अपराधिक गतिविधियों में लिप्त अपराधियों के खिलाफ प्रतिबंधात्मक कार्रवाई से लेकर कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। मुख्यमंत्री ने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि अपराधिक तत्वों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाए। छोटा हो या बड़ा सभी पर बगैर किसी दबाव के कड़ी कार्रवाई की जाए।