अधिकारियों की बैठक में क्यों हैरान हुए सीएम कमलनाथ

-CM-Kamal-Nath-surprised-at-meeting-officers-

भोपाल। मध्य प्रदेश में सत्ता बदलने के साथ ही बदलाव भी शुरू हो गए हैं| नई सरकार अपने अंदाज में काम कर रही है| वहीं मुख्यमंत्री कमलनाथ की सख्ती से सबसे ज्यादा अफसरों में हड़कंप है| बुधवार को सीएम ने मंत्रालय में मंत्रियों का वरिष्ठ अधिकारियों से परिचय कराने बैठक बुलाई, इस दौरान एक अधिकारी ने परिचय दिया तो कमलनाथ हैरान हो गए| 

दरअसल, इस बैठक में आईएएस अधिकारी नीरज मंडलोई ने अपना परिचय देते हुए कहा कि मैं नीरज मंडलोई, प्रमुख सचिव माइनिंग और हायर एजुकेशन हूं। इतना सुनकर मुख्यमंत्री कमलनाथ हैरान हो गए| इस पर उन्होंने अचरज जताते हुए मुख्य सचिव बसंत प्रताप सिंह से पूछा कि ये कैसा कॉम्बीनेशन है। मुख्य सचिव ने उन्हें बताया कि मूलत: ये प्रमुख सचिव खनिज साधन हैं और उच्च शिक्षा का अतिरिक्त प्रभार दिया है। नया अधिकारी खोज रहे हैं। सीएम ने कहा पुरानी परम्पराओं से हटकर हमें काम करना है, बदलाव के लिए जनता ने हमें चुना है| 

सीएम ने मुख्य सचिव प्रमुख सचिव और विभाग अध्यक्ष की बैठक करते हुए कई महत्व बातें भी कहीं। कमलनाथ ने कहा कि अब मुख्यमंत्री कार्यालय से सरकार नहीं चलेगी बल्कि सरकार के विभिन्न विभागों के बीच समन्वय  करके ही सामूहिक निर्णय लिए जाएंगे जो जनहित के होंगे। कमलनाथ ने यह भी साफ किया कि अधिकारियों कर्मचारियों और मंत्रीयो तक को सुस्ती और लापरवाही का जीरो टोलरेंस लाना होगा या नहीं अब सुस्ती और लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। कमलनाथ ने यह भी साफ कहा कि अब किसी भी काम में या तो काम होगा या नहीं होगा, यही दो बातें चलेंगी काम को टालमटोल करने की प्रवृत्ति बर्दाश्त नहीं की जाएगी कमलनाथ की इस बैठक के बाद अधिकारियों में एक नई ऊर्जा का संचार हुआ है और उनका मानना है कि कमलनाथ जो कह रहे हैं यदि उस पर सरकार खरी उतरी तो निश्चित रूप से मध्य प्रदेश के प्रशासनिक हलकों में एक नया परिवर्तन देखने को मिलेगा।