तेंदूपत्ता संग्राहक लाभांश वितरण कार्यक्रम में सीएम शिवराज ने की कई घोषणाएं, कमल नाथ ने किया पलटवार

कमल नाथ ने कहा कि पिछले इवेंट की तरह ही आज भी खंडवा के खालवा में तेंदूपत्ता संग्राहको को लाभांश वितरण के नाम पर एक इवेंट किया गया। इसमें भी शिवराज जी ने संबल योजना से लेकर, तीर्थ दर्शन योजना, कन्या विवाह आदि मामलों पर जमकर झूठ परोसा।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। सीएम शिवराज (CM Shivraj Singh Chauhan) ने आज खंडवा के खालवा मैदान में आयोजित तेंदूपत्ता संग्राहकों के कार्यक्रम (Tendu Patta Collectors Dividend Distribution Program) में कई घोषणाएं की। उन्होंने मंच से कहा कि तेंदूपत्ता के कुल लाभांश की 75 प्रतिशत राशि तेंदूपत्ता संग्राहकों में वितरित की जाएगी। अब संग्राहकों की मजदूरी बढ़ाकर 3 हजार प्रति मानक बोरा कर दी गई है। उन्होंने कहा कि इमारती लकड़ी कटाई के बाद उसकी 20 प्रतिशत राशि वन समितियों को दी जाएगी। उधर सीएम शिवराज के कार्यक्रम को कमल नाथ ने इवेंट  बताते हुए तंज कसा है, कमल नाथ ने कहा कि आज भी झूठ परोसा गया है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज खंडवा जिले में तेंदूपत्ता संग्राहकों को 41.63 करोड़ के लाभांश के चैक वितरित किये। उन्होंने कहा कि तेंदूपत्ता के कुल लाभांश की 75 प्रतिशत राशि तेंदूपत्ता संग्राहकों में वितरित की जाएगी। उन्होंने कहा कि संग्राहकों की मजदूरी बढ़ा कर 3 हजार प्रति मानक बोरा कर दी गई है। इमारती लकड़ी कटाई के बाद उसकी 20 प्रतिशत राशि वन समितियों को दी जाएगी। सीएम ने घोषणा की कि 15 नवंबर से मध्यप्रदेश की धरती पर पेसा एक्ट लागू कर दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें – MP News : नाम बदलने की राजनीति पर कांग्रेस का सवाल ‘क्या बदलेगा मध्यप्रदेश का नाम’

मुख्यमंत्री ने मंच से दोहराया – मैं सभी गरीब भाइयों एवं बहनों से कहना चाहता हूं कि अपने बेटा-बेटियों को जरूर पढ़ाना। सीएम राइज जैसे बड़े-बड़े स्कूल हम खोल रहे हैं। मेडिकल, इंजीनियरिंग, आईआईटी, आईआईएम में बच्चों का एडमिशन होता है तो फीस की चिंता मत करना। फीस उनके माता-पिता नहीं, सरकार भरेगी।

ये भी पढ़ें – MP Transfer : उच्च शिक्षा विभाग ने दो प्राचार्यों के तबादले किये, देखें आदेश

घोषणा करते हुए सीएम शिवराज ने कहा कि खालवा ब्लॉक में अगले सत्र से महाविद्यालय प्रारंभ किया जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि मेरे किसान भाइयों, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की राशि आपके खाते में भेजी जा चुकी है। बहुत ही जल्द हम मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना की भी राशि आपके खाते में डालने वाले हैं।

ये भी पढ़ें – साईं भक्तों के लिए अच्छा अवसर, IRCTC ने बनाया स्पेशल प्लान, यहां देखें शेड्यूल

उधर पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने पलटवार करते हुए कहा कि हमारी सरकार में तेंदूपत्ता संग्राहको की राशि को हमने 2000 रुपये से बढ़ाकर 2500 रुपये उनके हित में किया था। अभी हाल ही में मैंने शिवराज सिंह जी को पत्र लिखकर बढ़ती महंगाई को देखते हुए छत्तीसगढ़ सरकार की तरह इस राशि को बढ़ाकर 4500 रुपये करने की माँग की थी लेकिन सरकार ने इस दिशा में अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया है। सरकार को जल्द से जल्द निर्णय लेकर तेंदूपत्ता संग्राहको के हित में इस राशि को बढ़ाना चाहिये। मध्य प्रदेश में देश में सबसे ज़्यादा जनजातीय वर्ग के लोग रहते है , इसमें से क़रीब 45 लाख लोग तेंदूपत्ता संग्रहण के कार्य से जुड़े हुए है।

कमल नाथ (Kamal Nath) ने कहा कि पिछले इवेंट की तरह ही आज भी खंडवा के खालवा में तेंदूपत्ता संग्राहको को लाभांश वितरण के नाम पर एक इवेंट किया गया। इसमें भी शिवराज जी ने संबल योजना से लेकर, तीर्थ दर्शन योजना, कन्या विवाह आदि मामलों पर जमकर झूठ परोसा। यदि सरकार आज भी तेंदूपत्ता श्रमिकों के हित में इस आयोजन में कोई निर्णय लेती तो उचित होता लेकिन आज भी उन्हें बुलाकर सिर्फ़ भाषण परोसे गये।