एक्शन में शिवराज, कई जिलों के कलेक्टर एसपी सहित अन्य अधिकारी हटाए

cabinet Meeting

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj singh chouhan) की कलेक्टर कमिश्नर के साथ कॉन्फ्रेंस समाप्त हो गई है और उन्होने कॉन्फ्रेंस के बाद कई अधिकारियों को हटाने के निर्देश दिए हैं। सीएम ने कार्य में लापरवाही बरतने के कारण कई जिलों के कलेक्टर और एसपी को हटा दिया है।

अधिकारियों पर गाज

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बैतूल कलेक्टर राकेश सिंह को हटा दिया है। नीमच कलेक्टर जितेंद्र सिंह राजे भी हटाए गए हैं। वहीं निवाड़ी एसपी वाहिनी सिंह और गुना एसपी राजेश सिंह को भी हटा दिया गया है। सीएम ने गुना सीएसपी टीएस बघेल को भी हटाने के निर्देश दिए है। इन सभी पर कार्य में लापरवाही के चलते ये एक्शन लिया गया है।

इन बिंदुओं पर हुई चर्चा

मुख्यमंत्री द्वारा अवैध शराब माफिया के बारे में जानकारी ली गई जिसमें बताया गया कि देशी-विदेशी अवैध शराब के विरुद्ध कार्यवाही करने में जबलपुर, झाबुआ, राजगढ़, मुरैना, इंदौर आगे है। गुना, अशोकनगर, दतिया, निवाड़ी, बालाघाट फिलहाल पिछड़े हुए हैं। 1 जनवरी से 31 जनवरी 2021 तक के कुल प्रकरण 12729 रहे जिनमें देशी शराब 38936, विदेशी शराब 19495 लीटर तथा कच्ची शराब 35305 लीटर जब्त की गई। इनकी अनुमानित कीम 6.89 करोड़ रुपए हैं। इसके तहत 12387 लोग गिरफ्तार किए गए व  232 दो-चार पहिया वाहन जब्त किए गए। इससे पहले अक्टूबर से दिसम्बर तक अवैध शराब के विरुद्ध कार्यवाई करते हुए 20835 प्रकरण दर्ज किए गए, जिसमें 61723 लीटर देशी और 28916 लीटर विदेशी शराब व 134475 कच्ची लीटर शराब जब्त की गई। कुल 11 करोड़ रुपए जप्त शराब का अनुमानित मूल्य है। 20393 लोगों की गिरफ्तारी की गई और 441 चार पहिया और दो पहिया वाहन बरामद किए गए।

चिटफंड कंपनी के विरुद्ध जनवरी माह की गई कार्यवाई अनुसार जिला कटनी में सहारा कंपनी की 75 एकड़ भूमि जिसकी कीमत 150 करोड़ है, कुर्क की गई। ग्‍वालियर में सक्षम डेयरी लिमिलेड और सन इण्डिया लिमिलेट की चार संपत्ति, कीमत 67.37 लाख की नीलामी की गई। मंदसौर में 37 करोड रूपये मूल्‍य की संपत्तियां कुर्क की गई। सिंगरौली में 22 हेक्‍टयर भूमि कीमती 10 करोड रूपये कुर्क की गई। बडवानी 09 करोड़ रूपये मूल्‍य की संपत्तियां कुर्क की गई। उज्‍जैन में 7.75 करोड रूपये मूल्‍य की संपत्तियां कुर्क की गई। छतरपुर में 3.46 करोड रूपये मूल्‍य की संपत्तियां कुर्क की गई। देवास में 3.63 करोड रूपये मूल्‍य की कुर्क की गई, अलीराजपुर में 3.16 करोड रूपये मूल्‍य की संपत्तियां कुर्क की गई।

चिटफंड कंपनी के विरूद्ध कार्यवाई कर निवेशित राशि वापस कराने वाले शीर्ष जिलों में सिवनी, छिंदवाड़ा, सीधी, जबलपुर और इंदौर है। चिटफंड कंपनी के विरूद्ध पंजीबद्ध प्रकरण कराने वाले शीर्ष जिलों में सिवनी, रायसेन, भोपाल, ग्वालियर और नीमच शामिल है। एक जनवरी से अब तक 46 के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध हुए हैं तथा कुल 161 लोगों को आरोपी बनाया गया। 14600 निवेशकों को 24.47 करोड़ रुपए की राशि वापस की गई है।

बैठक में बताया गया कि यूरिया टॉप-20 बायर के अंतर्गत 7 हजार 823 प्रकरणों में से 6 हजार 687 प्रकरणों की जानकारी पोर्टल पर फीड की गई। 46 जिलों में 507 उर्वरक विक्रेताओं के पंजीयन निलंबित और 28 जिलों में 170 उर्वरक विक्रेताओं के पंजीयन निरस्‍त किए गए। वहीं 26 जिलों के 67 प्रकरणों में एफआईआर दर्ज हुई और अवैध परिवहन करने वाले 11 वाहन पकड़े गए।