सीएम शिवराज का बड़ा फैसला, 30 अप्रैल से मंत्रालय में कामकाज शुरू, 30 प्रतिशत अधिकारी-कर्मचारी रहेंगे उपस्थित

भोपाल

सीएम शिवराज सिंह चौहान के निर्देश के बाद गुरूवार 30 अप्रैल से मंत्रालय खुल जाएगा। इसी के साथ सतपुड़ा, विंध्याचल और अन्य राज्यस्तरीय कार्यालय भी खोले जाएंगे। 30 अप्रैल से मंत्रालय में 30 प्रतिशत अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित होंगे। मंत्रालक खोले जाने के साथ ही सीएम ने ये निर्देश भी दिए हैं कि ऑफिस आने वाले सभी अधिकारी कर्मचारी पूरी तरह से सोशल डिस्टेंसिंग क पालन करेंगे और अन्य आवश्यक नियमों का भी ध्यान रखा जाएगा।

लय स्थित समस्त विभागों में उप सचिव एवं उनसे उच्च स्तर के समस्त अधिकारी एवं राज्य-स्तरीय विभागाध्यक्ष कार्यालयों में अपर संचालक एवं उनसे उच्च स्तर के समस्त अधिकारी कार्यालयों में उपस्थित होकर कार्य सम्पादित करेंगे। शेष शासकीय सेवकों के लिये समस्त विभाग एवं विभागाध्यक्ष कार्यालय प्रतिदिन का एक रोस्टर इस प्रकार बनाएंगे, जिसके माध्यम से उप सचिव एवं अतिरिक्त/अपर संचालक स्तर से निम्न श्रेणी के 30 प्रतिशत अधिकारी एवं कर्मचारी कार्य दिवस में कार्यालय में उपस्थित रहकर कार्य करेंगे। रोस्टर का निर्धारण विभागीय सचिव द्वारा किया जायेगा।

निवास से शासकीय कार्य

जिस कार्य दिवस में रोस्टर के अनुसार शासकीय सेवक कार्यालय में उपस्थित नहीं हो सकते हैं, वे अनिवार्यत: मुख्यालय पर उपस्थित रहते हुए अपने निवास स्थान से ही शासकीय कार्य सम्पादित करेंगे और बिना सक्षम अनुमति के मुख्यालय नहीं छोड़ेंगे। घर से काम करने वाले अधिकारी एवं कर्मचारी पूरे समय दूरभाष/मोबाइल/ई-मेल पर उपलब्ध रहेंगे और वरिष्ठ अधिकारियों के दिशा-निर्देशों के अनुरूप कार्य सम्पादित करेंगे। अपने निवास स्थान से कार्य करते समय विभाग प्रमुख एवं विभागाध्यक्ष के निर्देशों का सख्ती से पालन करेंगे।

कार्यालय आने वाले समस्त अधिकारी एवं कर्मचारी कार्य स्थलों पर सोशल डिस्टेंसिंग के मापदण्डों का कड़ाई से पालन करेंगे। अपने निवास स्थान से कार्यालय में आवागमन तथा कार्यालयीन कार्य के दौरान समस्त शासकीय सेवकों को पूरे समय मास्क पहनना, सेनिटाइजर का उपयोग एवं सोशल डिस्टेंसिंग तथा अन्य मापदण्डों का पालन करना अनिवार्य होगा।

लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुरूप प्रत्येक कार्यालय को नियमित रूप से सेनेटाइज एवं फ्यूमीगेट किया जायेगा। कार्यालय के प्रत्येक कक्ष में आवश्यकतानुसार सेनिटाइजर आदि आवश्यक सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित की जायेगी।

बता दें कि कोरोना संक्रमण के समय अधिक प्रभावित इलाकों में अधिकारियों को जिलों का प्रभार सौंपा गया है, वहीं विशेष टीम भी भेजी जा रही है। सीएम शिवराज ने कहा है कि ऐसे समय में हम धीरे धीरे स्थिति पर काबू पा रहे हैं और पीएम मोदी ने जिस तरह कहा है कि जान भी है और जहान भी है तो हमें जान के साथ जहान का भी ध्यान रखना है। इसीलिये सभी सावधानियां रखते हुए 30 अप्रैल से वल्लभ भवन, सतपुड़ा, विंध्याचल और राज्यस्तरीय कार्यालय में 30 प्रतिशत अधिकारी कर्मचारी आना शुरू करेंगे ताकि सामान्य कामकाज जारी किया जा सके। इसी के साथ उन्होने कहा कि प्रदेश के ग्रीन जोन में आर्थिक गतिविधियां प्रारंभ कर दी गई है और रोजगार के अवसर जुटे इसके निरंतर प्रयास किये जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here