CM का बड़ा फैसला, 20 अगस्त से प्रदेश में पूरी क्षमता से चल सकेंगी यात्री बसें

shivraj singh chauhan

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट
कोरोना वायरस संक्रमण के चलते पिछले करीब पांच माह से बन बस सेवा (Bus Service) फिर से सवारी लेकर सड़कों पर दौड़ती नजर आएंगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh CHauhan) ने बड़ा फैसला किया है| मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में 20 अगस्त से सभी यात्री बसों को पूरी क्षमता के साथ चलने की अनुमति होगी, परन्तु मास्क लगाना और सभी सावधानियों का पूरा पालन बस संचालकों को सुनिश्चित करना होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मंत्रालय में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। इस सम्बन्ध में आदेश भी जारी कर दिए हैं, ऑपरेटरों को 50 प्रतिशत या कम अधिक क्षमता के साथ सवारी परिवहन से मुक्त कर दिया गया है। उन्हें कोविड 19 बीमारी के मद्देनजर बसों को सेनेटाइज कराने और अन्य प्रावधानों का पालन जरूर करना होगा।

दरअसल, भोपाल समेत प्रदेश भर में 5 महीने से बसों के पहिए थमे हुए हैं। बस ऑपरेटर्स लगातार सरकार से रोड टैक्स समेत अन्य टैक्स माफ करने की मांग कर रहे थे, इसे लेकर कुछ दिन पहले ही परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत और परिवहन आयुक्त मुकेश जैन से मुलाकात की थी। तब परिवहन मंत्री ने बस ऑपरेटर्स को आश्वस्त किया था कि उनकी मांगों पर विचार किया जाएगा। इस बीच मुख्यमंत्री ने सभी यात्री बसों को पूरी क्षमता के साथ चलने की अनुमति की बात कही है|  हालांकि बस आपरेटरों की मांगों पर सरकार ने क्या फैसला किया है, इसको लेकर स्थिति साफ़ नहीं है|

परिवहन मंत्री ने दिए थे संकेत जल्द चलेंगी बसें
इससे पहले परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत का बड़ा बयान सामने आया था। राजपूत ने कहा कि प्राइवेट संचालकों की बस बंद है, आज ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से बात हुई, ट्रांसपोर्टरों के टैक्स का मामला भी जल्द निपटाया जाएगा, टैक्स को कम किया जाएगा और ऐसी प्लानिंग की जाएगी, जिससे बसें चल सकेगी| राजपूत ने कहा कि मध्यप्रदेश में कमांड कंट्रोल सेंटर खोले जाएंगे। ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर खोलने को लेकर लोगों को प्रोत्साहन दिया जाएगा। बसों में अब लोकेशन पता करने के लिए ट्रैकिंग सिस्टम के तहत कमांड कंट्रोल सेंटर बनाया जा रहा है।कमान कंट्रोल सेंटर अगले माह से लागू करेगे ताकि अच्छे कुशल चालक तैयार हो।

 

CM का बड़ा फैसला, 20 अगस्त से प्रदेश में पूरी क्षमता से चल सकेंगी यात्री बसें