प्रदेश में यूरिया संकट पर बोले CM कमलनाथ, ‘केंद्र ने कम किया कोटा’

भोपाल| मध्य प्रदेश में यूरिया संकट से हाहाकार मचा हुआ है| सुबह से शाम तक लाइनों में लगकर किसान यूरिया ले रहे हैं| कई किसान लाइन में लगने के बाद भी खाद से वंचित है और अब उनका आक्रोश फूट रहा है| ऐसी स्तिथि में कई जगह चक्काजाम और खाद लूटने की खबरे भी सामने आई है| इस बीच मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा है कि केन्द्र सरकार द्वारा यूरिया के कोटे में कमी कर दी गयी है।  इस कारण सप्लाई में कुछ जगह दिक्कतें हो रही हैं, लेकिन यूरिया की पर्याप्त आपूर्ति को लेकर सरकार प्रयासरत हैं| 

प्रदेश में यूरिया को लेकर जहां किसान परेशान है, वहीं इसको लेकर राजनीति गर्म है| खाद की कमी के बहाने बीजेपी नेता लगातार सरकार को घेर रहे हैं| वहीं कांग्रेस के नेता इसके जवाब में केंद्र को दोषी बता रहे हैं| इस बीच मंगलवार शाम को सीएम कमलनाथ ने ट्वीट किया है| उन्होंने लिखा है “रबी मौसम के लिए यूरिया की मांग को देखते हुए हमने केन्द्र सरकार से 18 लाख मिट्रीक टन यूरिया की मांग की थी परंतु केन्द्र सरकार द्वारा यूरिया के कोटे में कमी कर दी गयी”।  

किसान हितैषी है बीजेपी तो केंद्र पर दवाब डाले 

उन्होंने लिखा “एक साथ मांग आने तथा केन्द्र  सरकार द्वारा हमारे यूरिया के कोटे में कमी कर देने के कारण वितरण में जरूर कुछ स्थानों पर किसान भाइयों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा है लेकिन हम लगातार यूरिया की पर्याप्त आपूर्ति को लेकर प्रयासरत हैं  और केंद्र सरकार से प्रदेश का यूरिया का कोटा बढ़ाने को लेकर निरंतर हमारे प्रयास जारी है। भाजपा यदि सच्ची किसान हितैषी है तो उसे इस मुद्दे पर राजनीति करने की बजाय अपनी केंद्र सरकार पर दबाव डालकर प्रदेश की मांग अनुसार यूरिया की आपूर्ति सुनिश्चित करवाना चाहिये “।

प्रदेश में यूरिया संकट पर बोले CM कमलनाथ, 'केंद्र ने कम किया कोटा'