शीत लहर से कंपकंपाया मध्य प्रदेश, अभी और बढ़ेगी ठण्ड

Cold-wave-shakes-Madhya-Pradesh-cold-will-increase-further

भोपाल। प्रदेश में कड़ाके की सर्द का दौर शुरू हो गया है, रात में सर्द हवाओं के कारण सुबह देर तक ठण्ड का एहसास हो रहा है, वहीं दिन में भी सर्द धुप के साथ सर्द हवाएं कंपकंपा रही है| उत्तर भारत के पहाड़ी क्षेत्रों में बरसात के साथ हुई जबरदस्त बर्फबारी के बाद हवा का रुख भी उत्तरी हो गया है। जिसके चलते मप्र में कड़ाके की ठंड का दौर शुरू हो गया है। बर्फीली हवाओं ने प्रदेश में ठिठुरन बढ़ा दी है। ठण्ड को देखते हुए प्रदेश में कई जगह स्कूल के समय भी बदलाव किया गया है| 

राजधानी में सीजन का रात का सबसे कम तापमान 10.1 डिग्रीसे.दर्ज हुआ। इसी तरह शुक्रवार को दिन का अधिकतम तापमान 22.4 डिग्रीसे. दर्ज हुआ, जो कि सामान्य से 4 डिग्रीसे. कम रहा। यह इस सीजन का दिन का सबसे कम तापमान है। अगले दो सप्ताह में 2 से 3 डिग्री तक तापमान में गिरावट हो सकती है। ठंडी हवाओं का रुख इसी तरह बना रहेगा। घने कोहरे ने ट्रेनों की रफ्तार भी रोक दी है। इसके साथ ही बंगाल की खाड़ी में बने चक्रवात के कारण उत्तरी मध्यप्रदेश में कुछ स्थानों पर बूंदाबांदी भी हुई है। गुरुवार शाम से चलना शुरू हुई ठंडी हवाओं का असर शुक्रवार को भी जारी रहा। इस दौरान न्यूनतम तापमान 10 डिग्री दर्ज किया गया। बुधवार तक हवाओं का रुख दक्षिण- पूर्व था।  रात में हवा की गति 22 किमी प्रति घंटा दर्ज हुई। 

मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार प्रदेश में अभी 2-3 दिन ठंड के तेवर और तीखे होने की संभावना है। हवा का पेटर्न उत्तरी और रफ्तार तेज होने के कारण रात के तापमान में और गिरावट होने के आसार हैं। पश्चिमी विक्षोभ के गुजर जाने और एक दिन पहले राजस्थान के पास बने प्रेरक चक्रवात का असर खत्म होने के कारण हवा का रुख भी लगातार उत्तरी बने रहने की पूरी संभावना है। इससे कड़ाके की सर्दी पड़ने का अनुमान है।

शहर         अधिकतम         न्यूनतम

भोपाल           22.4             10.1

ग्वालियर         22.0              9.4

इंदौर             22.2             10.4

जबलपुर         22.9              13.0