तहसीलदारों को कलेक्टर की चेतावनी- अगली बैठक में खराब परफॉर्मेंस वाले होंगे निलंबित

खराब परफॉर्मेंस पाए जाने वाले जिले के 2 तहसीलदारों को निलंबित किया जाएगा। साथ ही संबंधित एसडीएम को शोकॉज नोटिस दिया जाएगा।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh news) के बड़वानी कलेक्टर (Barwani Collector) के बाद अब रतलाम कलेक्टर ने तहसीलदारों को परफॉर्मेंस सुधारने के लिए की चेतावनी दी है।इसके साथ ही कहा कि आगामी बैठक में सबसे खराब परफॉर्मेंस वाले 2 तहसीलदारों (Tehsildars) को निलंबित (Suspended) और संबंधित एसडीएम को शोकॉज नोटिस दिया जाएगा।अगली बैठक से पहले कलेक्टर के इस निर्देश के बाद तहसीलदारों में हड़कंप मच गया है।

यह भी पढ़े.. 4 लाख कर्मचारियों-पेंशनर्स को नए वेतनमान का तोहफा, पेंशन-ग्रेच्युटी का भी लाभ, सैलरी में आएगा उछाल

दरअसल, हाल ही में राजस्व अधिकारियों की कार्य समीक्षा रतलाम कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम (Ratlam Collector Kumar Purushottam) ने कई राजस्व अधिकारियों के प्रति नाराजगी व्यक्त करते हुए खासतौर पर तहसीलदारों को परफारमेंस सुधारने के लिए चेतावनी दी।वही आगामी राजस्व अधिकारियों की समीक्षा बैठक के दौरान सबसे खराब परफॉर्मेंस पाए जाने वाले जिले के 2 तहसीलदारों को निलंबित किया जाएगा। साथ ही संबंधित एसडीएम को शोकॉज नोटिस दिया जाएगा।माना जा रहा है कि अगली हफ्ते में होने वाली बैठक में लापरवाह तहसीलदार और एसडीएम पर कार्रवाई हो सकती है।

वही रतलाम कलेक्टर ने जावरा तहसीलदार द्वारा कम वसूली किए जाने पर नाराजगी व्यक्त की और एसडीएम (Ratlam SDM) को समीक्षा करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने साफ निर्देश दिए कि आगामी बैठक से पूर्व 300 दिन से ज्यादा की राजस्व शिकायतों का निराकरण कर दिया जाए। वही खनिज पट्टों के भौतिक सत्यापन की समीक्षा के दौरान लगभग सभी तहसीलदारों के द्वारा कार्य नहीं किए जाने पर कलेक्टर ने सख्त नाराजगी व्यक्त की और लोक सेवा गारंटी की समीक्षा में कलेक्टर ने कहा कि सैलाना में शिकायतें क्यों बढ़ रही है अपर कलेक्टर को समीक्षा के निर्देश दिए।

यह भी पढ़े.. सर्दी में अचानक शुरू हो जाए पेटदर्द, तो घबराएं नहीं इन घरेलू नुस्खों से पाएं राहत

इससे पहले बड़वानी कलेक्टर (Barwani Collector) का बयान सामने आया था, जिसमें उन्होंने परफॉर्मेंस के आधार पर स्वास्थ्य, शिक्षा, महिला बाल विकास एवं पंचायत ग्रामीण विकास विभाग के कर्मचारियों का माह नवंबर का वेतन आहरित करने की बात कही थी।वही सरकारी कामों में लापरवाही पर उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह (Ujjain Collector Ashish Singh) और उमरिया कलेक्टर भी इस तरह की बात कह चुके है।वही जिले स्तर लापरवाह अधिकारियों-कर्मचारियों पर भी निलंबन और नोटिस की कार्रवाई का दौर जारी है।