शिवराज, गोपाल भार्गव और नंदकुमार पर आचार संहिता उल्लंघन का आरोप, आयोग में शिकायत

Complaint-of-violation-of-code-of-conduct-on-Shivraj

भोपाल।

जैसे जैसे चुनाव नजदीक आते जा रहे है वैसे वैसे सरगर्मियां भी तेज होती जा रही है। राजनैतिक दल भी मौका ढूंढकर एक दूसरे की शिकायत आयोग के पास लेकर पहुंच रहे है। आज कांग्रेस ने बीजेपी नेताओं के खिलाफ चार शिकायत दर्ज की है।इसमें दो शिकायते पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान, एक शिकायत वर्तमान खंडवा सांसद और बीजेपी प्रत्याशी नंद कुमार सिंह चौहान और एक शिकायत नेता प्रतिपक्ष गोपल भार्गव के खिलाफ की गई है।

मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने बताया कि कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने आज चुनाव आयोग जाकर अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अरुण सिंह तोमर को प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के खिलाफ उनके दो आपत्तिजनक बयानों को लेकर व नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव एवं भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार चौहान के खिलाफ कुल चार शिकायत दर्ज करवा कर उनके खिलाफ आचार संहिता के उल्लंघन का प्रकरण दर्ज करने की मांग की।

पहली शिकायत में बताया गया है कि प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान निरंतर अपनी सभाओं में कांग्रेस की राज्य सरकार द्वारा किसानों की ,की गयी कर्ज माफी को लेकर लगातार झूठ परोस कर किसानों को गुमराह कर झूठ व भ्रम फैला रहे हैं।सोमवार को भी उन्होंने ग्वालियर व भिंड की सभाओ में कहा कि एक भी किसान का कर्ज माफ नहीं हुआ है।जबकि वर्तमान कांग्रेस सरकार ने अभी तक करीब 23 लाख किसानों का कर्ज माफ कर दिया है।उनका यह बयान झूठा व किसानों में भ्रम फैलाने वाला है। यह आचार संहिता का उल्लंघन है। दूसरी शिकायत में बताया गया है कि प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार भिंड में भाजपा प्रत्याशी के नामांकन के दौरान कहा कि “अब 15 साल के भूखे डाकू लूटने आ गए हैं “ ।उनका यह बयान आपत्तिजनक,अमर्यादित,विवादास्पद है।आचार संहिता का उल्लंघन है।

तीसरी शिकायत में कहा गया है कि प्रदेश के नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने सोमवार शिवपुरी में भाजपा प्रत्याशी के नामांकन के दौरान सरकारी अधिकारियों व कर्मचारियों को खुलेआम धमकियाँ दी।उन्होंने कहा कि “महीने -2 महीने बाद हम आपको इसी जगह पर मिलेंगे फिर हम आपको आपकी औकात का ज्ञान कराएंगे “। उन्होंने वहां मौजूद भाजपा नेताओं से कहा “एक-एक का नाम नोट करिए हम चुन -चुन कर उन लोगों को निपटाने का काम करेंगे “ उनका यह बयान मतदान कार्य में लगे सरकारी अधिकारियों -कर्मचारियों को डराने ,धमकाने व प्रभावित करने का बयान है। यह आचार संहिता का उल्लंघन है 

वही चौथी शिकायत में प्रदेश के पूर्व भाजपा अध्यक्ष नंदकुमार चौहान ने रविवार की रात को खंडवा में एक कार्यकर्ता सम्मेलन में अपने संबोधन में कहा कि “कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी एक मशीन लाएंगे और कहेंगे कि इधर से आदमी डालूंगा उधर से बाई निकलेगी “। उनका यह बयान आपत्तिजनक होने के साथ-साथ महिलाओं का अपमान भी है।उक्त बयान आचार संहिता के उल्लंघन की श्रेणी में आता है।

कांग्रेस के प्रतिनिधि मंडल ने इन चार शिकायतों के माध्यम से चुनाव आयोग से मांग की है कि प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ,पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार चौहान के खिलाफ आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का प्रकरण दर्ज किया जाए।