अब कंप्यूटर बाबा ने की मोदी की तारीफ, कही यह बड़ी बात

computer-baba-statement-on-article-370-ram-mandir-and-narendra-modi

भोपाल| विधानसभा और लोकसभा चुनाव में बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कट्टर विरोधी बनकर कांग्रेस और दिग्विजय सिंह का खुलकर प्रचार करने वाले कंप्यूटर बाबा के सुर बदल गए हैं| धारा 370 ख़त्म करने पर बाबा ने पीएम मोदी को बधाई दी है वहीं अब राम मंदिर के मुद्दे पर भी मोदी सरकार पर विश्वास जताया है| कंप्यूटर बाबा ने इंदौर में कहा मुझे अब लगने लगा है कि मोदीजी राम मंदिर भी बनाएंगे।

इंदौर में मीडिया से चर्चा में कंप्यूटर बाबा के तेवर बदले बदले दिखे| अब तक बीजेपी का खुलकर विरोध करने वाले कंप्यूटर बाबा ने धारा 370 खत्म होने के बाद उन्होंने पीएम मोदी की तारीफ में कसीदे पढ़ें हैं। इंदौर में कंप्यूटर बाबा ने कहा कि मोदीजी ने जो वादा चुनाव में किया था, वो अब पूरा किया है। मुझे अब लगने लगा है कि मोदीजी राम मंदिर भी बनाएंगे। उन्होंने धारा 370 को खत्म कर देश हित में काम किया है। मैं इसके लिए उन्हें बधाई देता हूं। साथ ही इस मुद्दे पर उन्हें सभी संतों का भी समर्थन है। अब मुझे पूरी उम्मीद है कि मोदी राम मंदिर पर भी ध्यान देंगे और उसका निर्माण करवाएंगे। कंप्यूटर बाबा ने कहा कि पूरा संत समाज मोदीजी के साथ खड़ा रहेगा।

पहले भी कह चुके हैं राम मंदिर पर मोदी के साथ 

लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद भी बाबा ने मोदी को बधाई देते हुए ऐलान किया था कि पूरा संत समाज मोदीजी के साथ है, अगर वो राम मंदिर का निर्माण कराते हैं, और राम मंदिर की बात करते हैं तो मैं भी उनके साथ हूँ| इसी बात को एक बार फिर कंप्यूटर बाबा ने दोहराया है और राम मंदिर के मुद्दे पर साथ देने की बात कही है|  

सुर्खियां बंटोरने में माहिर है बाबा 

बता दें कि कंप्यूटर बाबा तब से सुर्ख़ियों में आये हुए हैं जब तत्कालीन शिवराज सरकार ने उन्हें राज्यमंत्री का दर्जा दिया था| उस समय वे सरकार के खिलाफ एक यात्रा निकालने वाले थे| इसके बाद कंप्यूटर बाबा का ह्रदय परिवर्तन हुआ और शिवराज से उनका छत्तीस का आंकड़ा हो गया| इसके बाद उन्होंने विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का खुलकर समर्थन किया और प्रचार और रैली भी की| सत्ता में आते ही कांग्रेस ने भी उन्हें प्रमुख जिम्मेदारी दे दी और  कमलनाथ की सरकार ने उन्हें बड़ी जिम्मेवारी दे रखी है। उन्हें कई सरकारी सुविधाएं भी मिली हुई हैं। साथ ही नर्मदा न्यास बोर्ड के अध्यक्ष पद की कुर्सी संभालते ही उन्होंने दौरे के लिए हेलिकॉप्टर की मांग की थी। साथ ही मंत्रालय में कमरा भी मांगा था। हालांकि कमलनाथ की सरकार ने उनकी मांगों पर ध्यान नहीं दिया। लेकिन अवैध रेट उत्खनन को लेकर उन्होंने छापे मारे| जम्मू कश्मीर को लेकर मोदी सरकार के फैसले को जब कांग्रेस विरोध कर रही है, ऐसे में कंप्यूटर बाबा मोदी सरकार का समर्थन कर एक बार फिर सुर्ख़ियों में आ गए हैं| 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here