Computer-Baba's-challenge-to-Shivraj-contest-loksabha-election-against-Digvijay-in-bhopal

भोपाल/जबलपुर। कांग्रेस ने भोपाल से पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को मैदान में उतारा है। वही बीजेपी अबतक उम्मीदवार का नाम तय नही कर पाई है। हालांकि साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के नाम की चर्चा जोरों पर है। इसी बीच विधानसभा चुनाव में बीजेपी की मुश्किलें बढ़ाने वाले कम्प्यूटर बाबा ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को चैलेंज देकर राजनैतिक गलियारों  मे हलचल पैदा कर दी है। बाबा ने शिवराज को दिग्विजय के खिलाफ चुनाव लड़ने की चुनौती दी है। इसके साथ ही उन्होंने मोदी के खिलाफ प्रचार करने की बात कही है।

दरअसल, विधानसभा चुनाव के दौरान बीजेपी और पिछली सरकार के नाक में दम करने वाले कम्प्यूटर बाबा ने अब लोकसभा चुनाव से पहले फिर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।बाबा ने शिवराज को दिग्विजय के खिलाफ चुनाव लड़ने की चुनौती दी है। बाबा ने कहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान में हिम्मत हो तो भोपाल सीट पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय के ख़िलाफ सामने आएं, और चुनाव लड़कर दिखाए।कम्प्यूटर बाबा ने कहा कि भोपाल लोकसभा सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह की मज़बूत दावेदारी है कोई भी उनके सामने टिकने वाला नही।बाबा के इस चैलेंज के बाद राजनैतिक गलियाओं में हलचल मच गई है। चुंकी अब तक बीजेपी भोपाल से उम्मीदवार का नाम तय नही कर पाई है। इससे पहले शिवराज का नाम भी चर्चाओं में रहा है।

मोदी के खिलाफ संत समाज करेगा रोड शो-कम्प्यूट बाबा

वही बाबा ने मोदी सरकार के खिलाफ जंग का ऐलान किया है।बाबा ने मोदी सरकार के खिलाफ हुंकार भरने की बात कही है । उन्होंने कहा है कि संतों ने पहले मध्‍य प्रदेश में शिवराज सरकार को उखाड़ फेंका अब मोदी सरकार की बारी है, अब मोदी सरकार के खिलाफ संत एकजुट होंगें। बाबा ने कहा कि विधानसभा चुनाव के बाद अब लोकसभा चुनाव में भी संत समाज एकजुट होगा। देश में मोदी सरकार को सत्ता से बाहर करने के लिए देशभर से करीब 25 हज़ार संत एकजुट होकर केन्द्र की मोदी सरकार के खिलाफ हुंकार भरेंगे। कम्प्यूटर बाबा ने घोषणा की कि 20 अप्रैल से मध्य प्रदेश की अलग-अलग 5 लोकसभा सीटों पर संत रोड शो करेंगे।बाबा के इस ऐलान के बाद  बीजेपी में हड़कंप मच गया है। चुंकी बीते चुनाव में बाबा ने धर्म संसद खोलकर जमकर प्रदर्शन और विरोध किया था और अब एक बार फिर लोकसभा चुनाव में मुश्किलें बढाने के लिए तैयार है।