गुना की घटना को लेकर कांग्रेस ने लगाया जंगलराज का आरोप,गृहमंत्री ने दिए जांच के आदेश

भोपाल

कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि मध्य प्रदेश में भाजपा सरकार आते ही जंगलराज की वापसी हो गई है। गुना में भूमि विवाद में दलित किसान परिवार के साथ पुलिस द्वारा बर्बरता पूर्वक पिटाई की निंदा करते हुए कांग्रेस ने कहा है कि बीजेपी सरकार को इस बात का भी जवाब देना चाहिए की भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा जिनको सबसे बड़ा भू माफिया कहते थे उन पर कब कार्यवाही होगी। वहीं बुधवार को मंडला में दो परिवारों के विवाद में सात लोगों की हत्या भी घोर निंदनीय है। कांग्रेस ने कहा है कि प्रदेश में पूरी तरह अराजकता का माहौल है, जंगलराज की वापसी हो गई है और कांग्रेस पार्टी इसकी निंदा करती है।

वहीं गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि गुना के कैंट थाना क्षेत्र की घटना उनके संज्ञान में आई है। इसके बाद तत्काल अधिकारियों को उच्च स्तरीय जांच के निर्देश दिए गए हैं। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि भोपाल से एक जांच दल जाकर पूरी घटना की जांच करेगा और जो भी दोषी होगा उसे बख्शा नहीं जाएगा।

बता दें कि जगतपुर पर एक जमीन पर पारदी परिवार ने कब्जा किया हुआ है। ये जमीन मॉडल कॉलेज के लिए दी गयी है। परंतु कब्जा होने के कारण अभी तक कॉलेज की नींव नहीं रखी जा सकती है। पूर्व में भी दो बार उक्त कब्जा हटाया गया, परंतु पीआईयू की लापरवाही के चलते काम शुरू नहीं हो सका। मंगलवार को तहसीलदार निर्मल राठौर के नेतृत्व में अमला अतिक्रमण हटाने पहुंचा था। इस कार्रवाई के दौरान पुलिस पर दंपत्ति के साथ निर्ममता से मारपीट का आरोप है। जिसके बाद दंपत्ति ने अपनी झोपड़ी में रखी कचरा मार दवाई पी ली थी।