छग की तर्ज MP में भी निकाय चुनाव बैलेट पेपर से करवाने की मांग

भोपाल। मध्य प्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव से पहले एक बार फिर ईवीएम मशीन की विश्वसीनयता पर सवाल उठने लगे है और चुनाव ईवीएम मशीन की बजाय मतपत्र से कराए जाने की मांग उठ रही है। मंगलवार को कांग्रेस प्रवक्ता जेपी धनोपिया के नेतृत्व में कांग्रेस नेताओं के एक दल ने राज्य निर्वाचन आयोग के मुख्य आयुक्त से मुलाकात कर आगामी निकाय चुनाव ईवीएम के स्थान पर मतपत्र से कराए जाने की मांग की। इस दौरान उनके साथ उपाध्यक्ष संगठन प्रभारी चन्द्र्रप्रभाष शेखर, महामंत्री राजीव सिंह और उपाध्यक्ष प्रकाश जैन मौजूद रहे।  

कांग्रेस प्रवक्ता जेपी धनोपिया ने बताया कि मप्र कांग्रेस कमेटी की ओर से राज्य निर्वाचन आयुक्त को एक ज्ञापन सौंपा गया है। ज्ञापन के माध्यम से कहा गया है कि प्रदेश में आगामी नगरीय निकाय चुनाव की प्रक्रिया अपेक्षित है एवं पिछले चुनाव का मतदान ईवीएम मशीन के द्वारा संपन्न हुआ था। लेकिन वर्तमान परिस्थितियों में विधान सभा चुनाव 2018 एवं लोकसभा चुनाव 2019 में ईवीएम से हुए मतदान का अनुभव संतोषजनक नहीं रहा है। कांग्रेस ने अपने ज्ञापन में यह भी कहा है कि प्रदेश की आमजनता में ईवीएम मशीन को लेकर कई प्रकार की भ्रान्तियां उत्पन्न हो रही है। ऐसी स्थिति में आगामी नगरीय निकाय के समस्त चुनाव ईवीएम के स्थान पर मतपत्र के द्वारा ही कराए जाने की व्यवस्था की जाए। कांग्रेस का कहना है कि नगरीय निकाय के समस्त चुनाव का मतदान ईवीएम से न कराकर मतपत्र छपवाकर चुनाव संपन्न कराए जाने से आमजनता को ही रही भ्रान्तियों का संतोषजनक उत्तर मिल सकेगा, जो कि न्यायोचित एवं न्यायहित में होगा।