मिलावट के खिलाफ कांग्रेस ने पदाधिकारियोंं के साथ की अहम बैठक, दिए यह निर्देश

congress-important-meeting-with-officer-bearer-in-bhopal

भोपाल। मध्य प्रदेश में खाद्य पदार्थों में की जा रही मिलावट के खिलाफ सरकार एकेशन में आ गई है। प्रदेश में भर में बड़ा पैमाने पर मिलवटखोरों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने तो मिलटखोरों की जानकारी देने वालों को 25 हज़ार का इनाम देने तक की घोषणा की है। इस संबंध में कांग्रेस ने एक अहम बैठक बुलाई थी। इसमें प्रदेश भर के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को बुलाया गया था। इस बैठक में कांग्रेस उपभोक्ता संरक्षण सेल, सेल के राज्य-स्तरीय पदाधिकारियों को मिलावट के खिलाफ अभियान में शामिल होने के लिए कहा गया।

बैठक में कहा गया है कि कार्यकर्ता लोगों को घर घर जा कर उनके मिलावट के खिलाफ जागरुक करें। बैठक को मंत्री पीसी शर्मा और कांग्रेस उपभोक्ता संरक्षण सेल के अध्यक्ष हरी शंकर शुक्ला और अन्य दिग्गज नेता शामिल हुए। मण्डली को संबोधित करते हुए पीसी शर्मा ने कहा, “मिलावट के खिलाफ यह अभियान अत्यंत आवश्यक था क्योंकि आज सभी प्रमुख बीमारियों और स्वास्थ्य संबंधी खतरों के पीछे मुख्य कारण भोजन और नकली दवाओं की मिलावट है।” “जब सरकार ने पहल की है, तो सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं को एकजुट होकर राज्य को स्वस्थ, फिट और समृद्ध बनाने के लिए धर्मयुद्ध में शामिल होना चाहिए।”

राज्य कांग्रेस के नेताओं ने कहा कि पदाधिकारियों को भोजन की मिलावट के खिलाफ अभियान चलाने के लिए सेल के जिला स्तर और ब्लॉक स्तर के सदस्यों को तैनात करने के लिए कहा गया है। पार्टी ने उपभोक्ता संरक्षण प्रकोष्ठ को भी पार्टी के लिए सदस्यता में 50,000 की वृद्धि करने का लक्ष्य दिया है।