पूर्व सांसद का CM को पत्र, ई-टेंडरिंग की आड़ में पूर्व मंत्रियों ने बेहिसाब संपत्ति बनाई, CBI जांच हो

congress-leader-pratap-bhanu-demand-to-cm-for-cbi-investigation-of-e-tendering-scam-

भोपाल| शिवराज सरकार के कार्यकाल में हुए हजारों करोड़ों के ई-टेंडरिंग घोटाले में शिकंजा कसता जा रहा है| एफआईआर के बाद छापामारी और घोटाल के संदेह में आने वाले लोगों से पूछताछ की तैयारी की जा रही है| इस बीच इस घोटाले की सीबीआई जांच की मांग भी उठ रही है| पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने इस घोटाले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है| इसके बाद अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद प्रताप भानु शर्मा भी सीबीआई जांच की मांग की है| इस संबंध में उन्होंने मुख्यमंत्री कमलनाथ को पत्र लिखा है| 

पूर्व सांसद प्रताप भानु शर्मा का मानना है कि ई-टेंडरिंग घोटाला प्रदेश ही नहीं देश का सबसे बड़ा घोटाला हो सकता है, उन्होंने पत्र में ई-टेंडरिंग घोटाले के खुलासे के लिए कमलनाथ का धन्यवाद किया है| साथ ही उन्होंने भाजपा शासनकाल में मंत्रियों और अफसरों पर अरबों की संपत्ति अर्जित करने का आरोप लगाया है| उन्होंने सीएम कमलनाथ को लिखे पत्र में कहा प्रदेश अध्यक्ष के रूप में आपके कुशल नेतृत्व के चलते पार्टी की सजगता से मध्य प्रदेश का ही नहीं बल्कि देश का सबसे बड़ा आर्थिक घोटाला ई टेंडरिंग घोटाला उजागर हुआ है | मुख्यमंत्री के रूप में आप के निर्देशों के अनुपालन में आर्थिक अपराध अनुसंधान ब्यूरो ने इस मामले में एफआईआर दर्ज की है|  भाजपा के कुशासन में गत 15 वर्षों में प्रदेश की जो आर्थिक बदहाली हुई है वह किसी से छुपी नहीं है | वर्ष 2006 से हिट ई-टेंडरिंग की आड़ में भाजपा शासन के कई मंत्रियों और आला अफसरों ने करोड़ों अरबों रूपयों की बेहिसाब संपत्ति अर्जित की है | 

उन्होंने कहा अगर इस प्रकरण की निष्पक्ष और गहराई से जांच की जाए तो यह घोटाला हजारों करोड़ों रुपए का है | उनका मानना है कि इस तरह के बड़े घोटाले की जांच के लिए सीबीआई जांच होनी चाहिए|