अपनों से फिर घिरी कांग्रेस, अब इस विधायक ने की मंत्री बनाए जाने की मांग

भोपाल। मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार का एक साल पूरा होने जा रहा है। बीते छह महीने से कैबिनेट विस्तार को लेकर अटकलें चल रही हैं। कांग्रेस के कई वरिष्ठ विधायक जिन्हें कैबिनेट में जगह नहीं मिली वह इंतजार में हैं। इस बीच पार्टी के लिए एक और विधायक ने मंत्री बनाए जाने की मांग की है। मंदसौर जिले की सुवासरा विधानसभा क्षेत्र से हरदीप सिंह डंग को मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने की मांग उठी है। हरदीप सिंह इस क्षेत्र से कांग्रेस के इकलौते विधायक हैं। उन्होंने कहा कि उनके क्षेत्र की जनता चाहती है कि क्षेत्र को प्रतिनिधित्व मिले। इसलिए मंत्रिमंडल में शामिल किया जाना चाहिए। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि अंतिम फैसला पार्टी जो लेगी वह उन्हें मान्य होगा। 

दरअसल, झाबुआ उप चुनाव से पहले तक कांग्रेस पर अन्य दलों के विधायकों को मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने का दबाव था। लेकिन झाबुआ में मिली जीत और भाजपा के प्रहलाद लोधी की सदस्यता रद्द होने के बाद प्रदेश की सियात पूरी तरह से बदल गई। कांग्रेस बहुमत से आ गई और भाजपा समेत अन्य दलों का दबाव भी खत्म हो गया। लेकिन अब पार्टी के सामने आपने से ही निपटने की चुनौती है। विधायक हरदीप सिंह डंग ने कहा कि ये सही है कि सोशल मीडिया और मीडिया के माध्यम से मंत्रिमंडल विस्तार की खबरें आ रही हैं। ऐसे में इस क्षेत्र के जनता की मांग है कि उन्हें भी प्रतिनिधित्व मिले।

यह भी मंत्री बनने की लाइन में

ये पहला मौका नहीं है जब कांग्रेस के विधायक मंत्री पद की मांग कर चुके हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने भी मंत्रिपद में जगह नहीं मिलने पर आपत्ति जताई थी। वहीं, कांग्रेस सरकार को समर्थन दे रही बसपा विधायक रामबाई लगातार मंत्री पद की मांग कर रही हैं। लेकिन झाबुआ उपचुनाव में कांग्रेस की जीत सके बाद से उनकी मांग कमजोर हुई है। क्योंकि कांग्रेस के विधायकों की संख्या बढ़कर 115 हो गई है जबकि कमल नाथ ने एक निर्दलीय विधायक को पहले से ही मंत्रीपद दे रखा है।