पांच साल पुराने मामले में कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी को मिली बड़ी राहत

भोपाल। युवक कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष और कालापीपल से विधायक कुणाल चौधरी को पांच साल पुराने एक मामले में बड़ी राहत मिली है। विशेष न्यायाधीश ने एक मामले की सुनवाई करते हुए कुणाल चौधरी, तराना विधायक महेश कुमार परमार और कांग्रेस कार्यकर्ता सुरेंद्र मरमट की जमानत याचिका मंजूर कर ली है। तीनों को 20-20 हजार रुपए के मुचलके पर रिहा किया गया। मामले की अगली सुनवाई 16 जनवरी 2020 को होगी। 

दरअसल 21 जुलाई 2014 को कांग्रेसियों द्वारा उज्जैन के माधवनगर कंट्रोल रूम पर किसानों के साथ प्रदर्शन कर चक्काजाम किया गया था। इस मामले में पुलिस ने वर्तमान में खेल मंत्री जीतू पटवारी के समेत तराना विधायक महेश कुमार परमार और कुणाल चौधरी सहित 9 के खिलाफ मामला दर्ज किया था। मामले में मंत्री जीतू पटवारी को पहले ही 2 नवंबर 2018 को जमानत मिल चुकी है। बुधवार को मामले की सुनवाई थी। जिसमें तीनों ने जमानत आवेदन पेश किया था। सुनवाई करते हुए विशेष न्यायाधीश सुरेश सिंह ने आवेदन मंजूर कर उन्हें 20-20 हजार रुपए की जमानत पर रिहा करने के आदेश दिए।