कर्जमाफी में गड़बड़ी को लेकर मंत्री का बड़ा बयान, मामला दर्ज करने की कही बात

cooperative-minster-govind-singh-statement-on-scam-in-farmers-loan

भोपाल। मध्य प्रदेश के सहकारिता मंत्री गोविंद सिंह ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि किसानों को कर्जमाफी में घोटाला करने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा। उनके खिलाफ मामला भी दर्ज किया जाएगा। उन्होंने कहा लगातरा हमें सोसायटियों के प्रबंधकों और कर्मचारियों के खिलाफ गड़बड़ी करने की शिकायतें मिल रही हैं। 

उन्होंने कहा कि कर्जमाफी को लेकर कई बड़ी बातें उजागर हुई हैं। सरकारी कर्मचारिओं के नाम पर ऋण निकालने और रिकार्ड उपलब्ध नहीं कराने की शिकायतें मिली है। इन शिकायतों की जांच की जा रही है। जांच पड़ताल के बाद सोसायटियों के दोषी अधिकारियों-कर्मचारियों पर प्राथमिकी की तैयारी चल रही है।

उन्होंने बताया कि ऋण माफी योजना के तहत 22 फरवरी को पहली किश्त शासन स्तर से किसानों के खातों में डाली जाएगी। इसके लिए ऋण माफी के पोर्टल पर जिले से 58 हजार किसानों के नाम अपलोड किए जा चुके हैं। अभी भोपाल स्तर से बैंक वार किसानों की सूची डाली जा रही है जिसे जिलास्तर पर कलेक्टर लॉग इन से जांच कर रहे हैं।

इस संबंध में भिण्ड कलेक्टर छोटे सिंह ने आज यहां बताया कि ऋण माफी योजना में मिली शिकायतों की बारीकी से जांच कराई जा रही है। जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ पुलिस में एफआईआर कराई जाएगी। जिले के मेहगांव के गिजुर्रा, गोअरा और रायपुरा सोसाइटी में कुछ गड़बडियां पाई गई है। जांच टीम से प्रतिवेदन मिलने पर आगे की कार्यवाही की जायेगी।