कोरोना के कारण अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में कच्चा तेल सस्ता, भारत में एक्साइज़ ड्यूटी 3 रूपये बढ़ी

130

कोरोना वायरस ने एक तरफ जहां दुनिया भर में तबाही मचाई ही है वहीं इसका असर अर्थव्यवस्था पर भी पड़ रहा है। भारत में पहले IIFA अवार्ड फिर IPL2020 और अब पेट्रोल और डीजल पर भी इसका असर हुआ है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट के बाद भारत सरकार ने शनिवार को पेट्रोल और डीजल पर 3 रूपये प्रति लीटर की एक्साइज ड्यूटी बढ़ा दी है। इसके अलावा रोड उपकर को भी एक रुपए प्रति लीटर बढ़ाकर 10 रूपये कर दिया गया है। एक्साइज ड्यूटी बढ़ने के बाद भी पेट्रोल और डीजल के कीमतों में किसी भी प्रकार की बढ़ोतरी नहीं हुयी है ये ग्राहकों के लिये राहत की बात है।

इससे पहले लगातार दो दिनों से पेट्रोल और डीजल की कीमत में कमी आ रही थी। 13 मार्च को दिल्ली – 70, कोलकाता में 72.70, मुंबई – 75.70, चेन्नई – 72.71 रुपए थी। वही 14 मार्च को पेट्रोल की कीमतों में और गिरावट देखने को मिली जहाँ दिल्ली में 69.87, कोलकाता – 72.57, मुंबई – 75.57,और चेन्नई – 72 . 57। इसके अलावा 13 मार्च को डीजल की कीमते दिल्ली में – 62.74, कोलकाता – 65.07, मुंबई – 65.68, चेन्नई – 66.19 रुपये थीं तो 14 मार्च को डीजल की कीमतों में भी गिरावट देखने को मिली है जहां दिल्ली में – 62.58, कोलकाता – 64.91, मुंबई – 65.51और चेन्नई – 66.02 है।

अंतरार्ष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेलों के मूल्य को लेकर लगातार मृदुता बनी हुयी है जिससे पेट्रोल और डीजल के मूल्यों में गिरावट आने की संभावना बताई जा रही है। एंजेल ब्रोकिंग के एनजीर् एवं करेंसी रिसर्च के डिप्टी वाइस प्रेसीडेंट अनुज गुप्ता का कहना है कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में किसी भी प्रकार से अभी बढ़ोतरी होने की संभावना नहीं नजर आ रही है। साथ ही उन्होंने तक कहा की कोरोना वायरस ने कच्चे तेल के मूल्यों पर भी दबाव बना रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here