daughter-commit-suicide-in-bhopal

भोपाल। खाना खाने के बाद में एक लड़की मां के पड़ोस में जमीन पर सो गई। मां उपर पलग पेटी पर सोई हुई थीं। तड़की पानी पनी के लिए मां की नींद खुली तो बेटी का शव फंदे पर लटका देखा। तत्काल अन्य परिजनों को उठाकर मामले की जानकारी दी गई। पिता ने 100 पर कॉल कर घटना की सूचना दी। कंट्रोल रूम की सूचना के बाद में पुलिस मौके पर पहुंची। शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए रवाना कर दिया गया। पुलिस को घटना स्थल से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। प्राथमिक जांच में सामने आया कि परिजन लड़की के लिए रिश्ता तलाश रहे थे। जबकि वह पढऩा चाहती थी।

एसआई राघवेंद्र सिंह के अनुसार प्रमीला पिता श्याम सुंदर प्रजापति (19) अर्जुन नगर में रहती थी। प्रमीला पिछले साल बारहवीं कक्षा पास कर चुकी थी। उसने एक कॉलेज में प्रथम वर्ष में एडमिशन लिया था। आर्थिक तंगी के चलते परिजनों ने उसकी पढ़ाई को छुड़ा दिया था। तब से ही वह घर पर रहती थी। परिजन उसके लिए रिश्ता तलाश रहे थे। परिजनों ने बातचीत में पुलिस को बताया कि प्रमीला घर की सबसे बड़ी बेटी थी। उसके अलावा एक भाई व दो और बहने हैं। पिता प्रायवेट नौकरी करते हैं। मां गृहणी हैं। बीती रात सबके साथ में खाना खाने के बाद में प्रमीला मां के पड़ोस में जमीन पर बिस्तर लगाकर सोई थी। तड़के करीब चार बजे प्यास लगने के बाद में मां की नींद खुली। आंख खुलते ही उन्होंने बेटी के शव को फंदे पर लटका देखा और अन्य परिजनों को उठाया। पिता ने 100 पर कॉल कर घटना की सूचना दी। कंट्रोल रूम की सूचना के बाद में पुलिस मौके पर पहुंची। शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए रवाना कर दिया गया। पुलिस को घटना स्थल से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। प्रमीला के पिता श्याम सुंदर ने पुलिस को बताया कि बेटी मोबाइल इस्तमाल नहीं करती थी। एसआई का कहना है कि खुदकुशी के सही कारणों का खुलासा पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही हो सकेगा।