प्रदेश के लाखों कर्मचारियों के डीए पर अगले माह हो सकता है फैसला

भोपाल। प्रदेश के लाखों कर्मचारियों के पांच फीसदी महंगाई भत्ता का फैसला लंबे समय से अटका हुआ है। कर्मचारियों के साथ-साथ पेंशनर्स को भी इसका लाभ दिया जाएगा। इन्हें अभी 12 फीसदी डीए मिल रहा है।
वित्त विभाग एक माह पहले डीए/डीआर पांच प्रतिशत बढ़ाने का प्रस्ताव तैयार करके उच्चाधिकारियों को भेज चुका है। लेकिन एरियर के भुगतान को लेकर फंसे पेंच के कारण इस पर निर्णय नहीं हो पाया है।

सूत्रों के मुताबिक वित्त विभाग एरियर के भुगतान को लेकर मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ चर्चा कर रणनीति बनाना चाहता है, लेकिन अभी तक बैठक नहीं हो पाई है। बताया जा रहा है कि अब मुख्यमंत्री के विदेश प्रवास से लौटने के बाद इस मामले पर फरवरी के पहले सप्ताह में चर्चा हो सकती है। केंद्र सरकार ने एक जुलाई 2019 से महंगाई भत्ता 12 से बढ़ाकर 17 प्रतिशत प्रतिमाह किया है। कुछ महीनों में नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव होने हैं, ऐसे में कर्मचारियों को खुश करने सरकार जल्द फैसला लेगी। इसलिए सीएम के विदेश से लौटने पर फैसला हो सकता है।

इस संबंध में वित्त विभाग प्रस्ताव बना चुका है लेकिन एरियर के भुगतान को लेकर मामला अटका हुआ है।
सूत्रों का कहना है कि विभाग डीए/डीआर देने को तो राजी है पर जुलाई से दिसंबर तक के एरियर का भुगतान किस तरह से किया जाए, इसको लेकर निर्णय नहीं कर पा रहा है। अभी तक तृतीय श्रेणी कर्मचारी तक डीए का आधा भुगतान नकद और बाकी भविष्य निधि खाते में जमा कराया जाता रहा है। इसके ऊपर की श्रेणी के अधिकारियों का एरियर भविष्य निधि में जमा कराया जाता रहा है। वर्तमान में सरकार पर काफी आर्थिक बोझ है, अतिवृष्टि के कारण सरकार पर छह हजार करोड़ से ज्यादा का वित्तीय भार आ गया है, वहीं कर्जमाफी और केंद्रीय करो में भी कटौती के कारण आर्थिक स्तिथि गड़बड़ाई हुई है, ऐसी सभी चुनौतियों को देखते हुए सीएम इस पर जल्द फैसला लेंगे।