पूर्व नेता प्रतिपक्ष की मांग- “ग्राम पंचायत स्तर पर स्क्रीनिंग एवं क्वारेंटाइन सेंटर बनाये जाएं”

भोपाल

मप्र विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने सीधी जिले के ग्राम कोल्हूडीह में पाये गये करोना संक्रमित मरीज को लेकर चिंता व्यक्त करते हुए कहा है कि प्रशासनिक लापरवाही की वजह से जिले में संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। उन्होने कहा कि लापरवाही का इससे बड़ा उदाहरण और क्या हो सकता है कि कोरोना संक्रमित मरीज अपने घर पहुंच गया और प्रशासन को खबर तक नही लगी ।

अजय सिंह ने कहा कि प्रदेश के हर जिले में हजारों की संख्या में लोग अपने अपने साधनों से सीधे घर पहुंच रहे हैं अगर वो अपनी जांच कराना भी चाहते हैं तो प्रशासन की ओर से व्यवस्था का अभाव होने के कारण जांच नहीं करा पा रहे हैं। उन्होने कहा कि प्रदेश की जागरूक जनता ने शासन के हर आदेश का पालन किया जिसकी वजह से कोरोना संक्रमण अभी नियंत्रण में है लेकिन प्रशासन द्वारा अपनाई जा रही घोर लापरवाही की वजह से अब खतरा बढ़ने लगा है। हजारों की संख्या में अब जो भी लोग जिलों में पहुंच रहे हैं वो अधिकांश उन इलाकों से आ रहे हैं जहाँ करोना विकराल रूप ले चुका है, ऐसी स्थिति में प्रशासन को ब्लॉक एवं ग्राम पंचायत स्तर पर स्क्रीनिंग व कोरेंटाइन सेंटर की व्यवस्था करनी चाहिए थी ।

अजय सिंह ने कहा कि सीधी जिले के ग्राम कोल्हुडीह में पाये गये कोरोना संक्रमित मरीज का सीधे घर पहुंच जाना एक चिंता का विषय है प्रशासन को इससे सबक लेने की आवश्यकता ह । उन्होंने संक्रमित व्यक्ति के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करते हुए जिला प्रशासन से मांग की है कि ग्राम पंचायत स्तर पर स्क्रीनिंग एवं कोरोंटाइन सेंटर बना कर आने वाले प्रत्येक व्यक्ति की जांच कराएं क्योंकि यह सम्बंधित व्यक्ति एवं उसके परिवार की सुरक्षा के लिए बेहद जरूरी है । उन्होंने प्रदेश की जनता से अपील करते हुए कहा कि सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए मास्क एवं अन्य रक्षा उपकरणों का जरूर प्रयोग करें ।