धार कारम डेम लीकेज मामला : CM शिवराज ने बुलाई हाईलेवल मीटिंग

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। धार के कारम डेम लीकेज मामलें में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान लगातार नजर बनाए हुए है, शनिवार सुबह सीएम चौहान ने उच्च अधिकारियों और धार जिला प्रशासन से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से वल्लभ भवन स्थित सिचुएशन रूम से बातचीत की, इस कांफ्रेस में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस , एसीएस राजौरा, एसीएस एसएन मिश्रा सहित संबंधित विभागो के अधिकारियों ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सीधे धार जिला प्रशासन से वस्तुस्थिति की समीक्षा की।

यह भी पढ़ें…. धार : कारम डेम लीकेज मामला, स्थिति नियंत्रण में, मंत्री सहित आला अधिकारी मौके पर मौजूद

वही बताया जा रहा है कि अब धार में डैम को फूटने से बचाने के लिए अब सेना ने मोर्चा संभाल लिया है। सेना के जवान शुक्रवार रात 2 बजे धार पहुंचे। सुबह 9.30 बजे तक मेजर समेत आर्मी के 40 जवान बांध पहुंच गए। इसके साथ ही एयरफोर्स के हेलिकाप्टर भी स्टैन्डबाय रखे गए है, वही धार और खरगौन के करीबन 18 गांव खाली कराए गए है, लोगों को जल्द से जल्द यहाँ से निकलने की अपील की जा रही है वही खुद मंत्री तुलसी सिलावट मौके पर स्थिति का जायजा ले रहे है इसके साथ ही हालातों को देखते हुए NDRF की सूरत, वडोदरा, दिल्ली और भोपाल से एक-एक टीम भी मध्यप्रदेश के धार के लिए रवाना कर हो गई है। हर टीम में 30 से 35 ट्रेंड जवान शामिल हैं।

यह भी पढ़ें… धार : कारम डेम में लीकेज मामला, एयरफोर्स के हेलिकाप्टर सहित सेना की एक कम्पनी स्टेंडबाय

वही फिलहाल डेम में लीकेज पता चलने के बाद से ही प्रशासन लगातार इसे ठीक करने के प्रयास में जुटा है, विशेषज्ञों की टीम से राय लेने के बाद  वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है जिसके तहत डेम से निकली एक नहर से पानी निकालने की कोशिश की जा रही है, माना जा रहा है कि एक बार पानी का फ्लो शुरू हो जाएगा, तो डैम में पानी का दबाव कम होता चला जाएगा। इससे नुकसान को कम करने में बहुत मदद मिलेगी। डैम की कुल भराव क्षमता 45 एमसीएम की है। अभी इसमें 15 एमसीएम पानी है। यानी क्षमता से एक तिहाई। अगर 5 एमसीएम पानी और कम हो गया तो बांध की दीवार टूटने पर भी पानी के फ्लो को नियंत्रित किया जा सकेगा।फिलहाल सेना ने मोर्चा संभाल लिया है। वही सीएम शिवराज सिंह चौहान खुद इस स्थिति पर नजर बनाए हुए है।