हेलमेट, सीटबेल्ट की एहमियत समझे लोग, बच सकती हैं कई जान: डीआईजी वली

DIG-irshad-wali-aware-about-helmet

भोपाल। राजानी में मनाए जा रहे सड़क सुरक्षा सप्ताह का समापन कल दोपहर को डीआईजी इरशाद वली ने एलएनसीटी कॉलेज में किया। इस दौरान उन्होंने कॉलेज के हजारों छात्रों से मुकातिब होते हुए कहा की हेलमेट और सीट बेल्ट को बोझ न समझते हुए जिम्मेदारी माने। आपके वाहन चलाने के दौरान आपकी मां, बहन व परिवार घर पर आपका इंतजार करता है। उन्हें आपसे कई उम्मीदें हैं और एक सड़क हादसे से उनकी उम्मीदें गम में तबदील हो जाती हैं। इसलीए हेलमेट तथा सीटबेल्ट लगाने की एहमियत को समझे। हर साल सैकड़ो जाने लोग सड़क दुर्घटनाओं में गंवा रहे हैं।

जानकारी के अनुसार हर साल की तरह इस वर्ष भी भोपाल पुलिस ने विगत 4 फरवरी से 10 फरवरी 2019 तक 30 वॉ सड़क सुरक्षा सप्ताह मनाया। जिसका समापत लक्ष्मी नारायण कॉलेज रायसेन रोड पर कल दोपहर को किया गया। इस कार्यक्रम में डीआईजी इरशाद वली, एएसपी ट्रैफिक अरविन्द दुबे सहित अन्य पुलिस के आला अधिकारी कर्मचारी शामिल थे। कार्यक्रम में कॉलेज के हजारों छात्र मौजूद रहे। यातायात पुलिस ने सड़क सुरक्षा सप्ताह के दौरान यातायात नियमों पर आधारित चित्रकला, स्लोगन, निबंध, क्विज एवं वाद-विवाद प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेने वाले विजेता बच्चों को पुरस्कार प्रदान किए। एएसपी अरविन्द दुबे द्वारा सड़क सुरक्षा सप्ताह के दौरान जिला भोपाल में यातायात जागरूकता हेतु की गयी समस्त कार्यवाही साथ ही सड़क सुरक्षा के प्रति आम लोगों को जागरूक करने के अभियान को यथासंभव जारी रखने एवं लोगों से यातायात नियमों का पालन किए जाने की अपील की गयी । 

– शराबी और बिना हेलमेट वाहन चालाने वालों के बने चालन

सड़क सुरक्षा सप्ताह के दौरान पुलिस द्वारा बिना हेलमेट- 653, संकेत उल्लंघन- 26, बिना सीट बेल्ट – 170, शराब पीकर वाहन चलाने वाले-37 वाहन चालकों पर कार्यवाही की गई। इस दौरान मोटर व्हीकल एक्ट की अन्य धाराओं में भी कार्यवाही कर 987 चालान बनाये गये एवं सप्ताह में 28 स्कूल/कॉलेजों में 10,085 छात्र/छात्रओं को प्रषिक्षण दिया गया ।