दिग्विजय का ऐलान- कोटा-इंदौर की तरह भोपाल को भी बनाया जाएगा ‘एजुकेशन हब’

दिग्विजय सिंह

भोपाल।

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने आज ऐलान किया कि अब भोपाल ही उनका संसदीय क्षेत्र होगा। दिग्गी ने कहा कि उन्होने भोपाल का मतदाता बनने का निर्णय लिया है और इसके लिए आवेदन भी कर दिया है।मीडिया से रूबरू हुए दिग्विजय ने माना कि भोपाल ही नहीं पूरे प्रदेश में बिजली की समस्या है, लेकिन वे आज सिर्फ विज़न भोपाल पर ही बात करेंगे। 

 सिंह ने वार्ता के दौरान भोपाल के विकास को लेकर कई घोषणाएं की। उन्होंने कहा कि भोपाल और इंदौर के बीच 6 लेन हाईवे बनाएंगे। इसको लेकर सीएम कमलनाथ से चर्चा हुई है। उन्होंने कहा कि भोपाल में मोहल्ला क्लीनिक पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शामिल किया जाएगा। इसके साथ ही भोपाल को कल्चरल, आर्ट और ऐजुकेशन हब बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि अगर कोटा ऐजुकेशन हब बन सकता है तो भोपाल क्यों नहीं। 

अपने विज़न भोपाल को लेकर चर्चा करते हुए दिग्गी ने कहा कि 2021 का मास्टर प्लान सितंबर तक तैयार हो जाएगा। जनप्रतिनिधियों से बात करके किसी भी समस्या का हल आसानी से निकाला जा सकता है। भोपाल में एयर कार्गो हब के साथ लॉजिस्टिक कार्गो हब भी बनना चाहिए। अभी केंद्र ने लॉजिस्टिक कार्गो हब का ड्राफ्ट तैयार किया है और हम उसका अध्ययन कर रहे हैं।

खेलों के लिए बनाएंगें स्टेडियम

दिग्विजय ने मोहल्ला क्लीनिक खोले जाने को लेकर प्रभारी मंत्री का आभार जताया और कहा कि भोपाल से मोहल्ला क्लिनिक पायलट प्रोजेक्ट की शुरुआत होगी।  भोपाल की शान बड़े तालाब को बचाने का ड्राफ्ट तैयार किया जाएगा।  पहले ड्राफ्ट को ऑनलाइन रहना चाहिए, पब्लिक हियरिंग होनी चाहिए ओर उसके बाद किसी भी विधेयक को विधानसभा में लाना चाहिए। भोपाल शहर के लिए अर्बन डेवलपमेंट अथॉरिटी होनी चाहिए, बरखेड़ा नाथू में सरकार ने जो 50 एकड़ जमीन दी है वहां पर खेलों के लिए स्टेडियम बनाया जाएगा। 

केन्द्र ने बजट में कुछ नही किया

 कलाकारों की वजह से सिटी डेवलप होने की बात भी पूर्व सीएम ने की। सूरत के कोचिंग सेंटर में हुई घटना से सबक लेकर बदलाव किया जाएगा। दिग्गी ने कहा कि अभी कोचिंग सेंटर पर 18% जीएसटी लगता है, लेकिन केंद्र सरकार ने बेरोजगारी की समस्या को लेकर बजट में कुछ नही किया।