दिग्विजय सिंह ने बढ़ती बेरोजगारी को लेकर केन्द्र सरकार पर साधा निशाना

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह (Former Chief Minister And Rajyasabha MP Digvijay Singh) ने देश में बढ़ती बेरोजगारी (Unemployment) पर चिंता जताते हुए कहा है कि हर साल करोड़ों युवा रोजगार (Employment) की तलाश कर रहे हैं। पिछले 6 सालों में जब से मोदी सरकार आई है, तबसे बेरोजगारी बढ़ती जा रही है। बेरोजगारी पर पहली मार नोटबंदी और दूसरी मार जीएसटी के कारण और तीसरी मार कोरोना के लॉकडाउन के कारण हुई है।

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा है कि देश में बेरोजगारी बढ़ती जा रही है। बेरोजगारी बढ़ने का पहला कारण नोटबंदी बनी है, जिसमें छोटे मध्यम और ग्रामीण उद्योग में काम करने वाले लोग बेरोजगार हो गए। फिर जीएसटी आई, जीएसटी में छोटा, मध्यम व्यापारी वर्ग त्रस्त हो गया और उसके यहां काम करने वाले भी बेरोजगार हो गए।

दिग्विजय सिंह ने कहा कि, राहुल गांधी ने न्याय योजना को लागू करने की बात कही थी, अगर न्याय योजना को लागू कर दी होती तो आज यह समस्या नहीं होती। दिग्विजय सिंह ने कहा कि, 20 लाख करोड़ में से आप डेढ़ लाख करोड़ छोटे-मध्यम उद्योग के लिए और शिक्षित, बेरोजगार, गरीब और मध्यमवर्गीय परिवार को 6 हजार रुपए मासिक रूप से न्याय योजना के अंतर्गत दे देंगे तो बहुत कुछ समाधान हो सकता है। इस दौरान उन्होंने कहा कि, आइए हम सब बेरोजगारों के लिए लड़ाई लड़े, क्योंकि बेरोजगारों को रोजगार देना भारत की सबसे बड़ी प्राथमिकता होना चाहिए।