किसानों को मुआवजा दिलाने के लिए दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह (Former Chief Minister And Rajya sabha MP Digvijay Singh) ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) को पत्र लिखकर किसानों (Farmers) की बर्बाद हुई फसलों का जल्द से जल्द मुआवजा दिए जाने की मांग की है। उन्होंने मुख्यमंत्री को कुछ सुझाव भी दिए हैं। दूसरी तरफ भोपाल (Bhopal) संभाग में हुई भारी बारिश में हुए नुकसान का अभी तक गंभीरता से आंकलन नहीं किए जाने पर उन्होंने चिंता जताई है।

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने शिवराज सिंह चौहान को लिखे पत्र में कहा है कि, ‘मेरे द्वारा गत दिवस भोपाल, सीहोर जिलों का दौरा कर भारी वर्षा से तबाह हुई फसलों का अवलोकन किया गया। इस अतिवृष्टि ने खरीफ की फसलें पूरी तरह से बर्बाद कर दी है। किसानों के सामने आपदा की घड़ी है। राज्य सरकार को तत्काल मुआवजा दिए जाने की कार्रवाई प्रारंभ करनी चाहिए, मैं प्रमुख रूप से इन मांगों पर आपका ध्यान आकर्षित करना चाहता हूं’।

पत्र में की यह मांग
दिग्विजय सिंह ने पत्र में मांग की कि खरीफ की फसल के दौरान जिन किसानों की फसलें पूरी तरह से खराब हो गई हैं, उनके द्वारा किसान क्रेडिट कार्ड एवं प्राथमिक सहकारी समितियों से लिया गया ऋण माफ किया जाए। कृषि विशेषज्ञों का दल गठित कर फसल क्षति का आंकलन कराया जाए और संबंधित बीमा कंपनियों से तत्काल बीमा राशि का भुगतान भी कराया जाए। दिग्विजय ने लिखा कि आगामी रबी फसल के लिए किसानों को खाद बीज की व्यवस्था कराई जाए। जिन किसानों पर पूर्व का ऋण बकाया है, उनको भी कृषि ऋण उपलब्ध कराया जाए। आवश्यकतानुसार किसानों को सहयोग के रूप में महात्मा गांधी नरेगा या सूखा राहत मद से मजदूर उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने लिखा है कि यह अत्यंत दुखद है कि भोपाल संभाग में इतने बड़े पैमाने पर किसानों की फसल बर्बाद होने पर भी जिला प्रशासन ने फसल क्षति के आंकलन का कोई गंभीर प्रयास नहीं किया है। जबकि किसानों की फसलें खराब हो गई हैं। प्रदेश में खरीफ की फसल खराब होने के बाद अनेक जिलों में किसानों ने आत्महत्या करने जैसा दर्दनाक कदम उठा लिया है, जिसमें 2 किसान आपके गृह जिले सीहोर के भी हैं। निवेदन है कि, राज्य सरकार की ओर से संकट की घड़ी में प्रदेश के किसानों को तत्काल मुआवजा, बीमा कंपनियों की तरफ से बीमा की राशि सहित खाद बीज उपलब्ध कराने के निर्देश देने का कष्ट करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here